Top

ऋषभ पंत के स्टम्प माइक कमेंट्री से आईपीएल में फिर जागा मैच फिक्सिंग का जिन्न

ललित मोदी ने इस गेंद का वीडियो ट्वीट करते हुए बीसीसीआई पर सवाल खड़े किए हैं।

ऋषभ पंत के स्टम्प माइक कमेंट्री से आईपीएल में फिर जागा मैच फिक्सिंग का जिन्न

लखनऊ। शनिवार को दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान में खेले गए दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच का मैच काफी रोमांचक रहा। निर्धारित 20 ओवरों में स्कोर टाई होने के बाद यह मैच सुपर ओवर में गया, जहां पर कैगिसो रबाडा की कसी हुई गेंदबाजी की बदौलत दिल्ली कैपिटल्स ने जीत दर्ज की। यूं तो यह मैच कैगिसो रबाडा और उनकी धारदार गेंदबाजी की वजह से चर्चा में होनी चाहिए, लेकिन यह किन्हीं और वजहों से चर्चा में चल रही है।

इस मैच पर मैच फिक्सिंग का आरोप लग रहा है। दरअसल कोलकाता नाईटराइडर्स की पारी के चौथे ओवर के दौरान दिल्ली कैपिटल्स के संदीप लमिछाने, रॉबिन उथप्पा को गेंद डाल रहे थे। गेंद की डिलवरी से ही पहले ऋषभ पंत ने कहा कि अगला गेंद चौका जाएगा, जो कि स्टम्प माइक में रिकॉर्ड हो गया। इसके बाद अगली ही गेंद पर रॉबिन उथप्पा ने ऑफ साइड में कवर और प्वाइंट के बीच में गैप ढूंढ़कर चौका लगा दिया।

अब कई लोग इसे मैच फिक्सिंग बता रहे हैं। सोशल मीडिया पर इस गेंद का वीडियो तेजी से वायरल हुआ। कुछ लोग आईसीसी और बीसीसीआई को भी टैग कर रहे थे कि उनके सामने ये सब क्या हो रहा है? इस आग में घी डालने का काम आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी ने किया।

ललित मोदी ने इस गेंद का वीडियो ट्वीट करते हुए बीसीसीआई पर सवाल खड़े किए। उन्होंने लिखा कि बीसीसीआई सब कुछ सामने देखते हुए भी क्यों सो रही है? हालांकि ट्वीटर से यह वीडियो हटा दिया गया है। बीसीसीआई ने भी इस मामले में अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि सोशल मीडिया पर सिर्फ आधा वीडियो ही शेयर हो रहा है।



बीसीसीआई ने अपने बयान में कहा, "ऋषभ पंत दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर से कह रहे थे कि ऑफ साइड पर फील्डर बढ़ा दें ताकि चौका रोका जा सकें. यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि सोशल मीडिया पर काट-छाट कर वीडियो शेयर किया जा रहा है. इससे एक युवा खिलाड़ी की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है।"

इससे पहले भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान भी ऋषभ पंत की स्टम्प माइक कमेंट्री सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी।

पढ़िए- आईपीएल: विवादों से तो पुराना नाता है


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.