वाराणसी: 60 हजार बुनकरों को वैश्विक बाजार देने के खुला ट्रेड फैसिलिटी सेंटर, देखें तस्वीर

वाराणसी समेत कई जिलों के हस्तशिल्प को नई तकनीक और संसाधनों के जरिए वैश्विक बाजार तक पहुंचाया जाएगा। इस सेंटर की आधारशिला बतौर सांसद पीएम नरेंद्र मोदी ने 7 नवम्बर 2014 को पहले बनारस दौरे में रखी थी।

वाराणसी: 60 हजार बुनकरों को वैश्विक बाजार देने के खुला ट्रेड फैसिलिटी सेंटर, देखें तस्वीर

वाराणसी।वाराणसी जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर बड़ा लालपुर इलाके में पूर्वांचल की कला और कारीगरी को नई तकनीक और संसाधनों के जरिए वैश्विक बाजार तक पहुंचाने के लिए ट्रेड फैसिलिटी सेंटर (टीएफसी) खोला गया है। इस सेंटर को शिलान्यास और लोकर्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। इस सेंटर से वाराणसी और आस-पास के करीब 60 हजार बुनकरों को फायदा पहुँचेंगा। इन बुनकरों को बिचौलियों से राहत मिलेगी साथ वह अपने सामानों को सीधे बेच पाऐंगे।

विश्व प्रसिद्ध बनारसी सिल्क और हथकरघा से संबद्ध 20 हजार हैंडलूम के जरिए साठ हजार बुनकरों की आजीविका जुड़ी है।

सेंटर में यह सुविधाएं-

टीएफसी सेंटर को वातानुकूलित और पावर बैकअप की सुविधा से लैस किया गया है। इस सेंटर के भूतल पर कन्वेंशन सेंटर और 14 दुकानें है। प्रथम तल पर 13 मार्ट, 2 एटीएम, गैलरी, 2 रेस्टोरेंट, 14 दुकानें, सिल्क गैलरी, कार्पेट गैलरी, इतिहास और संगीत गैलरी बनाई गई है। वहीं दूसरे तल पर व्यापार केन्द्र, गेस्ट रूम, व्यापार और सूचना का राष्ट्रीय केन्द्र, 4 दुकानें, 15 डारमेट्री, ऑफि‍स, लाइब्रेरी, रिकॉर्ड रूम, चलचित्र हाल आदि की सुविधा है। इसके साथ ही तीसरे तल पर 13 ऑफि‍स और व्यापार केन्द्र, 15 गेस्ट हाउस कामन हॉल, पैन्ट्री और ऑफि‍स शामिल हैं।

टीएफसी सेंटर में तीन तल बने हुए है।


सेंटर के प्रथम में तैयार 14 दुकानें।


43445 स्क्वायर मीटर में ट्रेड फैसिलिटी सेंटर बनकर तैयार हुआ है।


इस सेंटर को 305 करोड़ की लागत से तैयार किया गया है।


Share it
Top