संपूर्ण स्वदेशी : रद्दी कागज से इस दिवाली घरों में होगी रोशनी

संपूर्ण स्वदेशी : रद्दी कागज से इस दिवाली घरों में होगी रोशनीप्रतीकात्मक फोटो

कोटा (भाषा)। प्लास्टिक और धातु की रद्दी चीजों से रोशनी बिखराने वाली झालरें और दीपों की कतारें इस दिवाली लोगों के घरों को जगमगाएंगी। पर्यावरण संरक्षण के अपने प्रयास में कोटा स्थित आश्रय स्थल नारी निकेतन की लड़कियों ने बेकार हो चुके प्लास्टिक, ग्लास बोतलों, बक्से, पेटियों और धातुओं से सजावटी झालरों का निर्माण किया है।

कोटा स्थित एनजीओ सचेतन सोसाइटी की सचिव भारती गौड ने बताया, ‘‘उनके द्वारा बनायी गयी सामग्री को रैन बसेरा पार्क में दो दिवसीय प्रदर्शनी सह कार्यशाला में बेचा गया। आयोजन में बहुत लोग जुटे। इससे उनको बहुत प्रोत्साहन मिला।'' उन्होंने बताया कि यह पहल सोसाइटी की ‘अप-साइक्लिंग द वेस्ट' मुहिम का हिस्सा है। प्रदर्शनी की वस्तुओं की कीमतें 75 रुपये से 300 रुपये के बीच है। उन्होंने कहा कि इससे प्राप्त हुयी रकम का इस्तेमाल नारी निकेतन की लडकियों का हुनर संवारने के कार्यक्रम में होगा।

Share it
Share it
Share it
Top