इस इंजीनियर से सीखें, कैसे गर्म प्रदेश में भी कर सकते हैं स्ट्रॉबेरी की खेती

इस इंजीनियर से सीखें, कैसे गर्म प्रदेश में भी कर सकते हैं स्ट्रॉबेरी की खेतीखेत में तैयार स्ट्रॉबेरी।

स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए ठंडे तापमान की जरूरत होती है। ऐसा माना जाता है कि ज्यादा तापमान में इसकी पैदावार नहीं हो सकती। लेकिन राजस्थान के दीपक नायक, जो खुद तो वैसे सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं, ने स्ट्रॉबेरी की खेती करके किसानों के लिए तरक्की के नये दरवाजे खोल रहे हैं।

दीपक राजस्थान, पाली के विराटियाकल्ला गाँव के रहने वाले हैं। वे साफ्टवेयर इंजीनियर हैं। दीपक का कहना है कि रिटायरमेंट के बाद वो किसी प्रकार की चिंता नहीं करना चाहते हैं इसलिए उन्होंने अपनी एक एकड़ जमीन पर खेती करने का मन बनाया।

लेकिन दीपक उस फसल को नहीं करना चाहते थे जो फसल उनके या आसपास के गाँव के लोग करते थे। इसके लिए उन्होंने अपने अमेरिका में रहने वाले दोस्त से सलाह ली। दोस्त की सलाह पर दीपक ने स्ट्रॉबेरी की खेती की। इसके लिए उनके दोस्त ने कुछ उपाय बताए साथ ही यूट्यूब पर वीडियो देखकर दीपक ने नवंबर में खेती करना शुरू कर दिया।

स्ट्रॉबेरी दिखाते किसान दीपक नायक।

ये भी पढ़ें-स्ट्रॉबेरी है नए ज़माने की फसल : पैसा लगाइए, पैसा कमाइए

खेती करने से पहले कराई मिट्टी की जांच

खेती शुरू करने से पहले दीपक ने मिट्टी की जांच करवाई कि स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए जमीन उपयुक्त है भी कि नहीं इसलिए उन्होंने मृदा परीक्षण विभाग की मदद से 700 रुपए के खर्च में मिट्टी की जांच करा ली। दीपक ने गाँव कनेक्शन से फोन पर बातचीत में बताया कि स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए मिट्टी का पीएच स्तर 7 और पानी का स्तर 0.7 होना चाहिये।

10 से 30 डिग्री के बीच होना चाहिए तापमान

स्ट्रॉबेरी की खेती के लिये तापमान 10 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच होना चाहिये। इसीलिये इस फसल को उगाने के लिये सर्दियों का सीजन उपयुक्त है।

ये भी पढ़ें- अब मैदानी क्षेत्रों में भी हो रही स्ट्रॉबेरी की खेती

गाय के गोबर का इस्तेमाल

दीपक ने खेती के लिये गाय के गोबर से तैयार जैविक खाद का इस्तेमाल किया। गोबर के लिये दीपक की मदद गाँव के लोगों ने की। इसके बाद 2x180 फुट के बेड तैयार किये गए।

खेत में इंस्टाल करवाए ड्रिप

दीपक ने खेत में ड्रिप सिंचाई सिस्टम लगवाया। दीपक बताते हैं कि स्ट्रॉबेरी की खेती के लिये इस तरह की तकनीक का ही इस्तेमाल करना चाहिये क्योंकि उसे नमी देनी पड़ती है।

ये भी पढ़ें- तस्वीरों में देखें एलोवेरा की खेती और प्रोसेसिंग

एक एकड़ में लगा सकते हैं 24000 तक पौधे

दीपक ने बताया कि एक एकड़ जमीन पर लगभग 24000 पौधे लगाए जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि दो कतारों के बीच की दूरी शुरूआत में 10 से 12 इंच तक होनी चाहिए। दीपक ने स्ट्रॉबेरी के पौधे केएफ बॉयोप्लान्ट्स प्राइवेट लिमिटेड (पुणे) से 9.50 रुपए प्रति पौधे की दर से खरीदे।

250 रुपए प्रति किलो बिकती है स्ट्रॉबेरी

दीपक बताते हैं कि उनके गाँव के करीब बिलावर और अजमेर में स्ट्रॉबेरी की अच्छी मांग है और ये 250 रुपए किलो बिकती है। इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि यहां पर स्ट्रॉबेरी ताजी मिल जाती है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top