उड़ान में देरी होने पर एयरलाइन कंपनी यात्री को देगी मुआवजा: जयंत सिन्हा

अगर फ्लाइट कैंसिल हो जाती है और इसमें एयरलाइन की गलती होती है तो यात्रियों को मुआवजा दिया जाएगा या फिर टिकट के पैसे वापस दिए जाएंगे।

उड़ान में देरी होने पर एयरलाइन कंपनी यात्री को देगी मुआवजा: जयंत सिन्हा

केंद्र सरकार ने एलान किया है कि अगर उड़ान में देरी होती है तो एयरलाइन कंपनी को यात्रियों को मुआवजा देना होगा। नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने मंगलवार को हवाई यात्रा करने वालों को बड़ी राहत दी है। केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि अगर फ्लाइट कैंसिल हो जाती है और इसमें एयरलाइन की गलती होती है तो यात्रियों को मुआवजा दिया जाएगा या फिर टिकट के पैसे वापस दिए जाएंगे। वहीं अगर फ्लाइट देरी से उड़ान भरती है, तो यात्रियों को अलग-अलग मुआवजा दिया जाएगा।
ऐसे मिलेगा टिकट का पूरा पैसा
राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने इस बात की घोषणा करते हुए कहा कि अगर एयरलाइंस की गलती से फ्लाइट कैंसिल होती है, तो फिर यात्रियों को पूरा पैसा वापस करना पड़ेगा। पैसा वापस नहीं करने की सूरत में कंपनी को यात्री को दूसरी फ्लाइट में टिकट देना होगा और इसके लिए वो किसी तरह का कोई अतिरिक्त चार्ज यात्री से नहीं ले सकेगा।
हवाई यात्रा में विमानन कंपनियों की मनमानी पर सरकार नकेल कसने जा रही है। सरकार ने तय किया है कि घरेलू मार्गों पर टिकट बुक कराने के 24 घंटे के अंदर यदि कोई यात्री अपना टिकट रद्द कराता है तो उसे कोई कैंसिलेशन चार्ज नहीं देना होगा। यही नहीं, यदि इसी अवधि में कोई यात्री अपनी यात्रा की तिथि या समय में परिवर्तन करना चाहता है तो उसके लिए भी रिशिड्यूलमेंट चार्ज नहीं देना होगा।
केन्द्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने मंगलवार को हवाई यात्रा क्षेत्र के लिए कई सुधार की घोषणा की। इसमें संशोधित सिटिजन चार्टर मसौदा भी शामिल है जिस पर संबंधित हितधारकों से प्रतिक्रया मंगाई गई है। इस पर 31 मई तक प्रतिक्रिया स्वीकार की जाएगी और उसके बाद दो सप्ताह तक का समय इसके हिसाब से तब्दीली करने में लगेगा। उम्मीद जतायी गई है कि मध्य जून तक ये सुधार लागू हो जाएंगे।


अब यात्रा के दौरान कर सकेंगे बात
हवाई यात्रा के दौरान यात्री मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर सकेंगे। इतना ही नहीं यात्री उड़ान के वक्त कॉल या डेटा का इस्तेमाल कर सकेंगे। दूरसंचार आयोग ने हाल ही में उड़ान के दौरान मोबाइल सेवा 'कनेक्टिविटी' को सशर्त मंजूरी दी है। इस फैसले के बाद घरेलू या विदेशी हवाई सफर के दौरान यात्री मोबाइल पर बात कर सकेंगे और इंटरनेट का भी इस्तेमाल कर पाएंगे।

Share it
Top