सिर्फ 5 मिनट में ऑन लाइन भरें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फॉर्म

सिर्फ 5 मिनट में ऑन लाइन भरें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फॉर्मप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना।

लखनऊ। केंद्र सरकार ने किसानों की मदद करने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना चला रही है, जिसमें आवेदन करके किसान इसका लाभ ले सकते हैं। इस योजना का लाभ लेने के दो तरीके हैं, पहला ऑफलाइन फार्म भर के और दूसरा ऑन लाइन फार्म भर कर।

ऑफलाइन फार्म भरने के लिए किसान को बैंक के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं इस लिए सरकार ने ऑन लाइन फॉर्म भरने की व्यवस्था भी की है, जिससे किसान घर बैठे कुछ ही मिनटों में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फार्म भर सकते हैं। प्रधानमंत्री बीमा फसल योजना का फॉर्म आप घर बैठे ही अपने स्मार्ट फोन (Smart Phone) या साइबर कैफे से भरा जा सकता है।

इसके लिए आपको भारत सरकार की कृषि बीमा की वेबसाइट पर जाना होगा। (वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें)

ये भी पढ़ें : कैसे, कब, कहां और कौन भर सकता है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फॉर्म

पहला कदम

वेबसाइट के होम पेज पर जाएं और भाषा चुने।

दूसरा कदम

दूसरे कदम में आप किसान आवदेन पर क्लिक करें

तीसरा कदम

तीसरे कदम में अब आपको पूरा फॉर्म भरना है।

ये भी पढ़ें : ग्रामीण अपने फोन से प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए कर सकते हैं आवेदन

जरूरी कागजात

ध्यान रहे कि ऑन लाइन फॉर्म भरने से पहले आप अपने सभी जरूरी कागजात स्कैन करके ही बैठें। अगर आपके पास स्मार्ट फोन है तो आप इन सभी कागजातों को फोन के कैमरे से खींचकर फोन के ही जरिए ऑनलाइन भर सकते हैं।

  • आवेदक का एक फोटो
  • किसान का आईडी कार्ड (पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड)
  • किसान का एड्रेस प्रूफ (ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड)
  • अगर खेत आपका खुद का है तो खेत का खसरा नंबर / खाता नंबर का पेपर जरूर साथ लें।
  • खेत पर फसल बोई है, इसका प्रूफ। प्रूफ के तौर पर किसान पटवारी, सरपंच, प्रधान जैसे जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों से एक पत्र लिखवाकर जमा कर सकते हैं। हर राज्य में ये व्यवस्था अलग अलग है। नजदीकी बैंक जाकर इस बारे में ज्यादा जानकारी ले सकते हैं।
  • अगर खेत बटाई या किराए पर लेकर फसल बोई गई है, तो खेत के असली मालिक के साथ करार की कॉपी की फोटोकॉपी साथ जरूर लें। इसमें खेत का खरसा नंबर / खाता नंबर जरूर साफ तौर पर लिखा होना चाहिए।
  • अगर आप चाहते हैं कि फसल को नुकसान होने की स्थिति में पैसा सीधे आपके बैंक खाते में जाए, तो एक कैंसिल्ड चैक (Cancelled Cheque) भी लगाना जरूरी होगा।

ये भी पढ़ें : जानिए गन्ना किसान जनवरी से दिसम्बर तक किस महीने में क्या करें ?

Share it
Top