होम लोन लेने से पहले करें पूरी तैयारी

होम लोन लेने से पहले करें पूरी तैयारीजॉइंट लोन लेने से आपको लोन के रूप में बड़ा अमाउंट मिल सकता है।

लखनऊ। अपना घर हो ये हर कोई चाहता है। महंगाई के समय में घर बनाना भी इतना आसान नहीं है। लेकिन बैंक इसमें आपकी मदद करते हैं होम लोन देकर। बैंक भी आसानी से होमलोन नहीं देते बल्कि कई तरह की कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद ही होम लोन देते हैं। होम लोन से जुड़ी कुछ जरूरी बातें बता रही हैं लखनऊ के पंजाब नेशनल बैंक की मैनेजर क्रेडिट रितु अवस्थी-

ज्वाइंट लोन लें

आपको लगता है कि होम लोन के लिए आपकी इनकम लिमिट कम है और इसकी वजह से बैंक लोन पास नहीं करेगा तो आप अपने लोन में अन्य किसी व्यक्ति को साथी बना सकते हैं। ये आपकी पत्नी, पिता, भाई या अन्य भरोसे का व्यक्ति हो सकता है जिसके नाम में आप जॉइंट लोन ले सकते हैं। जॉइंट लोन लेने से आपको लोन के रूप में बड़ा अमाउंट मिल सकता है, वहीं टैक्स का फायदा भी ज्यादा मिलेगा, जिसका फायदा उठाना चाहिए।

पहले से बना लें योजना

बैंक घर की कीमत का 75-85 फीसदी ही लोन देते हैं, बाकी रकम का भुगतान खुद करना होता है. लिहाजा एक घर खरीदने से पहले प्लान करना बहुत ही जरूरी है। घर खरीदने से 2-3 साल पहले इसकी योजना बना लें और हर महीने कुछ रकम इसके लिए जमा करना शुरू कर दें। दूसरी तरफ इसका फायदा यह है कि आपको हर महीने बहुत ही कम ईएमआई का भुगतान करना होगा, ब्याज दर कम लगेगी और कम लोन होने पर जल्दी से लोन अप्रूव हो जाएगा।

जरूरी दस्तावेज रखें साथ

एक होम लोन के लिए कई डॉक्यूमेंट्स चाहिए होते हैं। बैंक आपसे प्रोसेसिंग फी चेक, करीब 6 कैंसल्ड चेक और उस अकाउंट के लिए ईसीएस मैनडेट फॉर्म जरूरी है जहां आपकी सैलरी या इनकम क्रेडिट की जाती है।

खुद का रोजगार करने वालों से एजुकेशन, क्वॉलिफिकेशन सर्टिफिकेट और बिजनेस का सबूत मांगे जा सकते हैं। प्रॉपर्टी से संबंधित डॉक्यूमेंट्स में अलॉटमेंट लेटर या बायर अग्रीमेंट और डिवेलपर को किए गए पेमेंट की रिसीट शामिल होती है। लिहाजा बेहद जरूरी है कि आप सभी जरूरी डॉक्यूमेंट्स रखें ताकि लोन डिलीवरी प्रोसेस तेजी से हो सके और बैंक के पास आपकी होम लोन एप्लीकेशन को पास करना ही पड़े।

बैंक खाते की पूरी जांच करता है

लोन के लिए आवेदन करने से पहले अपने बैंक अकाउंट पर ध्यान दें। इसकी वजह ये है कि लोन मांगने पर बैंक हम से कम से कम 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट मांगता है।

बैंक हमारे बैंक डिटेल्स की पूरी गहराई से जांच करता है और कोई भी कमी को लाल रंग से दिखाता है। यह किसी बाउंस चेक, ईएमआई का भुगतान नहीं होने आदि का मामला हो सकता है। अगर हम महीने के अंत में आपके बैंक खाते में बहुत ही कम राशि होती है तो भी इसका मतलब यह है कि आपकी महीने की इनकम इतनी कम है कि महीने के अंत होने तक आपकी डिपॉजिट पूंजी ज्यादातर खत्म हो जाती है, ऐसे में आप होम लोन का बोझ बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे। इसलिए बैंक आपके होम लोन की अर्जी को खारिज भी कर सकता है।

हमेशा जाने-माने बिल्डर से खरीदें प्रापर्टी

होम लोन देने से पहले बैंक यह देखता है कि आपने प्रॉपर्टी कहां से खरीदने की योजना बनाई है। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप पैसे का भुगतान नहीं कर पाएंगे तो बैंक मकान कब्जे में लेकर बेचकर अपना पैसा वापस वसूल सकता है। ऐसी प्रॉपर्टी को बैंक पसंद नहीं करता जिसे वह न बेच सके या खरीदार बहुत ही मुश्किल से मिले। अच्छे जाने-माने बिल्डर से प्रॉपर्टी लेने पर बैंक आपको आसानी से लोन दे पाएगा इसलिए प्रॉपर्टी हमेशा जाने-माने बिल्डर से ही खरीदें।

Share it
Top