उत्तर प्रदेश: फूड प्रोसेसिंग उद्योग शुरू करने वाले लोगों के लिए बढ़िया मौका, प्रशिक्षण के साथ ही मिलेगी आर्थिक सहायता

उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, उत्तर प्रदेश ने फूड प्रोसेसिंगमें अपना उद्योग शुरू करने वाले लोगों के लिए कई तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रमों के लिए आवेदन मांगे हैं।

Divendra SinghDivendra Singh   20 Sep 2021 9:12 AM GMT

उत्तर प्रदेश: फूड प्रोसेसिंग उद्योग शुरू करने वाले लोगों के लिए बढ़िया मौका, प्रशिक्षण के साथ ही मिलेगी आर्थिक सहायता

फोटो: मैसर्स सहयाद्री फार्मर्स प्रोड्यूसर कंपनी

अगर आप भी खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में कोई व्यवसाय करना चाहते हैं तो यह आपके लिए बढ़िया मौका है। उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग ने कई तरह के कार्यक्रम शुरू किए हैं, जहां से प्रशिक्षण लेकर अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

उद्यान विभाग एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, उत्तर प्रदेश के निदेशक आरके तोमर बताते हैं, "खाद्य प्रसंस्करण में ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार देने के लिए कई तरह के कार्यक्रम शुरू किए गए हैं, जिसमें तीन दिन की ट्रेनिंग दी जाएगी और ट्रेनिंग के बाद उद्योग शुरू करने में भी मदद की उनकी जाएगी।"

कई तरह के हैं कार्यक्रम

फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए कई तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम हैं। इसमें पहला कार्यक्रम फल एवं सब्जी प्रसंस्करण का है, इसमें तरह-तरह के फल और सब्जियों से कई तरह के उत्पाद बनाने के ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके साथ ही बेकरी व कन्फेक्शनरी उत्पाद, दुग्ध प्रसंस्करण, वसा एवं तेल प्रसंस्करण, लघु वनोत्पाद, मसाला प्रसंस्करण, अनाज प्रसंस्करण, मत्स्य, सीफूड प्रसंस्करण और कुक्कुट प्रंस्करण जैसे कार्यक्रम हैं। इन सभी के लिए लाभार्थियों को तीन दिनों का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, जिसमें 25 घंटों की ट्रेनिंग दी जाएगी।


पीएमएफएमई योजना के तहत दी जाएगी ट्रेनिंग

खाद्य प्रसंस्करण को बढ़ावा देने और इस क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार देने के लिए प्रधानमंत्री सूक्ष्‍म खाद्य उद्योग उन्‍नयन योजना (पीएमएफएमई) योजना शुरू की गई है। तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रमों को उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा चयनित स्टेट लेवल टेक्निकल इंस्टीट्यूट (एलएलटीआई) और विभागीय संस्थानों पर संचालित कराया जाएगा।

प्रशिक्षण के बाद दी जाएगी आर्थिक मदद

प्रशिक्षण के बाद लाभार्थियों को उद्योगों की स्थापना/उन्नयन करने के लिए प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के तहत इच्छुक लाभार्थियों के डीपीआर तैयार कराने और उद्योग लगाने में सहयोग किया जाएगा, जिसमें पूंजीगत लागत का 35 प्रतिशत अनुदान अधिकतम राशि 10 लाख तक प्राप्त कर सकते हैं।

ऐसे कर सकते हैं आवेदन

इच्छुक अभ्यर्थी प्रशिक्षण पाने के लिए विभाग की वेबसाइट http://applyonline.upfoodprocessing.in/ पर जल्द से पंजीकरण कराना होगा। इसमें अभ्यर्थी को अपना नाम और पूरा पता लिखने के बाद किस कार्यक्रम में प्रशिक्षण लेना होगा, उसे सेलेक्ट करना होगा।

साथ ही यह भी बताना होगा कि आप खुद के लिए के लिए या फिर किसी एफपीओ या कंपनी के लिए आवेदन कर रहे हैं।

पहले आओ पहले पाओ के हिसाब से होगा चयन

अगर आप इनमें से कोई भी व्यवसाय शुरू करना है तो जल्द से जल्द आवेदन करना होगा, क्योंकि ट्रेनिंग के लिए सीमित सीट हैं और पहले आओ पहले पाओ आधार पर लोगों का चयन किया जाएगा।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.