इतनी सारी बीमारियों का इलाज है अंकुरित चना

इतनी सारी बीमारियों का इलाज है अंकुरित चनाअंकुरित चना।

लखनऊ। अभी तक आपने सुना होगा कि अंकुरित चना सेहत के लिए स्वास्थ्यवर्धक होता है। मगर क्या आप जानते हैं कि अंकुरित चना आपको स्वस्थ रखने के साथ आपके रोगों को दूर करने में भी लाभप्रद है। आईये आपको अंकुरित चने की कई लाभदायक बातों के बारे में बताते हैं।

सुबह खाली पेट चना खाएं

अंकुरित चनों में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम और विटामिन्स भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं। इतना ही नहीं, क्लोरोफिल के साथ-साथ फास्फोरस आदि कई मिनिरल्स भी पाये जाते हैं। ऐसे में अंकुरित चनों को रातभर भिगोकर रोजाना सुबह खाली पेट दो मुठ्ठी चना खाने से आपके शरीर को कोई बीमारी नहीं लगती और आप स्वस्थ रहते हैं।

डायबिटीज के मरीजों के लिए भी अंकुरित चना बेहतर

जो व्यक्ति डायबिटीज से पीड़ित हैं, उसे अंकुरित चना अवश्य खाना चाहिए। असल में अंकुरित चना ताकतवर होता है और यह डायबिटीज के रोगियों में गल्कोज की मात्रा को कम करता है। इससे डायबिटीज के रोगियों को फायदा मिलता है।

पथरी के रोगियों के लिए भी अंकुरित चना देता है फायदा

अंकुरित चना पथरी के रोगियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। आजकल लोगों में पथरी की समस्या भी बढ़ी हुई है। दूषित पानी और खाना खाने की वजह से पथरी की समस्या बढ़ रही है। ऐसे में रातभर भिगो कर रखे हुए अंकुरित चनों को एक चम्मच शहद के साथ खाने से पथरी निकल जाती है और ऐसे रोगियों को फायदा मिलता है।

कब्ज और पेट दर्द में राहत देता है अंकुरित चना

अंकुरित चनों को रात में भिगो लीजिए और सुबह उठकर आप उन चनों में नमक, जीरा और अदरक मिलाकर खाएं। इससे कब्ज और पेट दर्द की समस्या दूर होती है।

शरीर को स्फूर्ति देने के लिए बेस्ट है अंकुरित चना

शरीर को दिनभर स्फूर्ति देने के लिए अंकुरित चना सबसे अच्छा है। सुबह अंकुरित चनों में नमक, अदरक, काली मिर्च और नींबू डालकर खाने से आपको पूरे दिन स्फूर्ति मिलेगी।

चने का सत्तू गर्मियों में देता है शरीर को ताकत

शरीर की ताकत और क्षमता को बढ़ाने के लिए आप चने का सत्तू का उपयोग कर सकते हैं। गर्मियों में आप चने के सत्तू को नींबू और नमक मिलाकर पी सकते हैं। आपकी सेहत के लिए यह बेहद फायदेमंद औषधि साबित हो सकती है।

मूत्र से संबंधित रोगों में भी लाभकारी

मूत्र से संबंधित रोगों में भी चना फायदेमंद है। इसके लिए ऐसे रोगियों को भुने हुए चने का सेवन करना चाहिए। चने को गुड़ के साथ खाने में यूरीन की किसी भी प्रकार की समस्या में राहत मिलती है।

शरीर की गंदगी को साफ करता है चना

शरीर की गंदगी को साफ करने में काला चना लाभकारी होता है। काला चना शरीर की गंदगी को अच्छे से साफ करता है। जिससे डायबिटीज, एनीमिया, बुखार जैसी बीमारियां दूर रहती हैं।

पीलिया के मरीजों के लिए फायदेमंद है चने की दाल

पीलिया के रोगियों को चने की दाल का सेवना करना चाहिए। 100 ग्राम चने की दाल में दो गिलास पानी डालकर भिगो दें। कुछ घंटों के बाद उसमें पानी निकाल लें। अब उस दाल में 100 ग्राम गुड़ मिलायें। इसके बाद चार से पांच दिन तक इसका सेवन रोगी करे तो उसे पीलिया में लाभ मिलता है।

अंकुरित चना दूर करता है पुरुषों की कमजोरी

आजकल काम में लगातार जूझने के कारण पुरुषों में तनाव और कमजोरी होने लगती है। ऐसे में अंकुरित चना बहुत लाभकारी साबित होता है। अंकुरित चने को चबा-चबा कर खाने से कई फायदे मिलते हैं। इससे पुरषों में कमजोरी दूर होती है। वहीं भीगे हुए चने के पानी के साथ शहद मिलाकर अगर ऐसे रोगी पिये तो उसमें पौरूषत्व बढ़ता है।

कुष्ठ रोगियों के लिए भी लाभकारी अंकुरित चना

कुष्ठ रोगी अगर अंकुरित चना तीन से चार साल तक लगातार सेवन करे तो वह पूरी तरह ठीक हो सकता है।

अस्थमा रोगी के लिए फायदेमंद हैं चना

अस्थमा से पीड़ित रोगियों को चने के आटे का हलवा खाना चाहिए। इस तरह से सेवन करने से अस्थमा रोगी को फायदा मिलता है।

त्वचा की समस्याओं के लिए फायदेमंद है चने का आटा

चने के आटे का नियमित रूप से सेवन करने से दाद, खुजली और खाज जैसी त्वचा से संबंधित रोग दूर होते हैं। ऐसे में अंकुरित चने का सेवन खाने के साथ करने से यह किसी औषधि से कम नहीं है।

ये भी पढ़ें :

प्लास्टिक में रखे खाद्य पदार्थ को खाने से पुरुषों में गंभीर रोगों का खतरा

डाक्टरों की सलाह- बारिश के सीजन में डेंगू मलेरिया जैसी बीमारियों से बचना है तो इन बातों का रखें ध्यान

महिलाओं की उन दिनों की समस्याओं को आसान करेगा ‘माहवारी कप’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top