इस साल भी जारी है मौसम से जुड़ी विषम परिस्थितियां: विश्व मौसम विज्ञान संगठन 

इस साल भी जारी है मौसम से जुड़ी विषम परिस्थितियां: विश्व मौसम विज्ञान संगठन विश्व मौसम विज्ञान संगठन। 

संयुक्त राष्ट्र (भाषा)। संयुक्त राष्ट्र की मौसम एजेंसी ने कहा है कि आर्कटिक ‘लू' समेत जलवायु की कठोर परिस्थितियां और विषमता से भरा मौसम वर्ष 2017 में भी जारी हैं। पिछले साल वैश्विक तापमान रिकॉर्ड स्तर पर रहा था और विश्व को अभूतपूर्व रुप से कम समुद्री बर्फ और भारी समुद्री गर्मी का सामना करना पड़ा था।

वर्ष 2016 में वैश्विक जलवायु की स्थति पर बयान जारी करते हुए विश्व मौसम विज्ञान संगठन ने कहा कि वैश्विक तापमान जहां औद्योगिक काल से पूर्व के दौर से 1.1 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा, वहीं वैश्विक समुद्री जल स्तर रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया। वहीं पृथ्वी पर समुद्री बर्फ के स्तर में नवंबर के औसत की तुलना में 40 लाख वर्ग किलोमीटर से ज्यादा की गिरावट आई। यह इस माह के लिए एक बड़ी विसंगति है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

विश्व मौसम विज्ञान संगठन (डब्ल्यूएमओ) के महासचिव ने पेटरी टलास ने कहा, ‘‘जलवायु प्रणाली में हो रहे अन्य बदलावों के साथ वैश्विक तापमान में यह वृद्धि सिलसिलेवार है।'' उन्होंने बताया, ‘‘कार्बन डाइऑक्साइड का स्तर पर्यावरण में लगातार नए रिकॉर्ड को तोड़ रहा है। जलवायु प्रणाली में मनुष्य की गतिविधियों का असर ज्यादा से ज्यादा प्रत्यक्ष तौर पर दिख रहा है।''

विश्व जलवायु अनुसंधान कार्यक्रम निदेशक डेविड कार्लसन ने बताया कि बिना किसी मजूबत अलनिनो (एक ऐसी घटना जो हर चार-पांच साल में गर्म तापमान लेकर आती है) के भी पूरी पृथ्वी पर वर्ष 2017 में अन्य तरह के असाधारण परिवर्तन दिख रहे हैं जो कि जलवायु के प्रति हमारी समझ को चुनौती दे रहे हैं। उन्होंने बताया, ‘‘अब हम सही मायनों में अनाधिकृत क्षेत्र में आ गए हैं।''

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top