भाजपा बनाएगी बहुमत की सरकार : कृष्णा राज

भाजपा बनाएगी बहुमत की सरकार : कृष्णा राजकेंद्रीय महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कृष्णा राज 

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश में अगली सरकार बनाने का दावा करते हुए केंद्रीय महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कृष्णा राज ने दावा किया है कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी में गठजोड़ का राज्य विधानसभा चुनावों में मतदाताओं पर कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला क्योंकि जब कोई कमजोर होता है तभी सहारा लेता है और फिर यहां तो दो बेसहारा एक दूसरे की बैसाखी बने हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव जीत रही है और अगली सरकार भी बनाने जा रही है। यूपी में चुनावों से ठीक पहले समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन ने दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के लिए भले ही उम्मीद बढाई हो लेकिन यूपी के शाहजहांपुर से सांसद कृष्णा राज को लगता है कि भाजपा की राज्य में बढ़ती ताकत को देख दोनों दलों के बीच हुआ यह गठबंधन कमजोर है।

उन्होंने भाषा को दिए विशेष साक्षात्कार में कहा, ‘‘जब कोई सहारा लेता है तो मान लिया जाता है कि वो कमजोर है। यूपी चुनावों में भी दो बेसहारा (कांग्रेस-समाजवादी पार्टी) एक दूसरे की बैसाखी बन गए हैं। जब कोई हार मान लेता है, हताशा में होता है तो ऐसे रास्ते तलाशता है।'' केंद्रीय मंत्री का मानना है कि नोटबंदी को विपक्ष मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहा है जबकि जनता पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। उन्होंने कहा, ‘‘नोटबंदी से जनता में उत्साह है, विपक्ष ने नोटबंदी को मुद्दा बनाने की कोशिश की लेकिन जनता के इस समर्थन को देख कर साफ है कि यह जनता के लिए लाभकारी कदम है।'' कृष्णा राज ने कहा, ‘‘परेशान वे लोग हैं जिन्होंने 60 साल से काला धन जोड़ा था लेकिन प्रधानमंत्री के इस कदम से एक झटके में उसकी (कालेधन की) सफाई हो गई।'' प्रधानमंत्री ने कालेधन पर लगाम लगाने के लिए नोटबंदी की तो सियासी पारदर्शिता के तहत राजनीतिक चंदे में पारदर्शिता की मुहिम छेड़ी।

भाजपा में बडी संख्या में दूसरे दलों के बागियों और दागियों को भी इस बार टिकट दिया गया है, ऐसे में ‘पार्टी विद डिफरेंस' के उसके दावों पर जनता क्यों यकीन करेगी। इस सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा हमारी लड़ाई किसी नेता से नहीं भ्रष्टाचार से है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम उत्तर प्रदेश चुनाव में किसी नेता से नहीं बल्कि भ्रष्टाचार करने वाले दलों की नीति और नीयत से लड रहे हैं, और आगे भी लडते रहेंगे।'' चुनावों में भाजपा विकास के मुद्दे पर ही जनता से वोट मांग रही है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान उत्तर प्रदेश में हुए भ्रष्टाचार, घोटाले से जनता त्रस्त है। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी का कुशल नेतृत्व और भाजपा की साफ सुथरी छवि एक बेहतर विकल्प है। उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश और देश की जनता को विकास पर यकीन है। भाजपा ही प्रदेश का विकास कर सकती है।

अखिलेश यादव विकास की सिर्फ बात कर रहे हैं, विकास के दावों में दम था तो गठबंधन क्यों किया?'' क्या भाजपा के लिए राम मंदिर का मुद्दा पीछे छूट गया है, इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘राम मंदिर हमारी आस्था का विषय है. और हम माननीय सर्वोच्च न्यायालय के इस मुद्दे पर आने वाले फैसले का पालन करेंगे।''

उत्तर प्रदेश चुनाव में अखिलेश और राहुल की जोड़ी युवाओं को अपनी और खींचने की कोशिश कर रही है इसी तर्ज पर प्रियंका गांधी और डिंपल यादव की जोड़ी महिला वोटरों के एक बडे वर्ग को क्या प्रभावित नहीं करेंगी, इस सवाल पर कृष्णा राज ने कहा, ‘‘बात महिला और पुरष प्रचारकों की नहीं है। प्रदेश की जनता ने दोनों दलों को परखा है। एक ने 60 साल तक देश के विकास को रोके रखा तो एक दल ने 25 साल तक यूपी में भय और भ्रष्टाचार की राजनीति की। जनता विकास चाहती है।

''नेताओं से अपने रिश्तेदारों के लिए टिकट न मांगने की प्रधानमंत्री की अपील के बावजूद पार्टी द्वारा बडी संख्या में नेताओं के रिश्तेदारों को टिकट दिये जाने को लेकर कार्यकर्ताओं में असंतोष के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘अगर कहीं ऐसा है तो वहां टिकट कार्यकर्ता के काम के आधार पर दिया गया है. परिवार वाद कांग्रेस और समाजवादी पार्टी मंे दिखता है हमारे यहां नहीं।''

Share it
Top