भ्रष्टाचार, कालाधन के खिलाफ लड़ाई से पीछे नहीं लौटूंगा, गरीबों के लिए लड़ते रहेंगे : मोदी

भ्रष्टाचार, कालाधन के खिलाफ लड़ाई से पीछे नहीं लौटूंगा, गरीबों के लिए लड़ते रहेंगे : मोदीप्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ जिस रास्ते पर उन्होंने कदम बढ़ाए हैं, वह उस रास्ते से पीछे लौटने वाले नहीं हैं। वह गरीबों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं और लड़ते रहेंगे।

नई दिल्ली (भाषा)। भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ अपनी सरकार की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों पर निर्णायक शासन देने में विफल रहने के लिए तीखा प्रहार किया और कहा कि वह अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकती, उसे देश को जवाब देना होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ जिस रास्ते पर उन्होंने कदम बढ़ाए हैं, वह उस रास्ते से पीछे लौटने वाले नहीं हैं। वह गरीबों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं और लड़ते रहेंगे।

कुछ समय पहले दिये गए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के ‘भूकंप’ से जुड़े बयान पर चुटकी लेते हुए मोदी ने सोमवार को देश के कुछ हिस्स्सों में आए भूकंप का जिक्र किया और कहा कि “आखिर भूकंप आ ही गया। धमकी तो बहुत पहले ही मिल चुकी थी लेकिन भूकंप आ ही गया।”

कांग्रेस उपाध्यक्ष पर परोक्ष निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, “जब कोई स्कैम में सेवाभाव देखता है, स्कैम में नम्रता देखता है तो सिर्फ मां ही नहीं, धरती मां भी दुखी हो जाती है और तब भूकंप आता है।” उल्लेखनीय है कि कुछ समय पहले राहुल गांधी ने कहा था कि उन्हें संसद में बोलने नहीं दिया जा रहा है और जब मैं बोलूंगा तो भूकंप आ जाएगा।

आप ऑपरेशन कब कराते हैं? जब आपका शरीर स्वस्थ होता है। नोटबंदी के लिए अच्छी अर्थव्यवस्था की जरूरत थी और यही सही समय था। हमारी अर्थव्यवस्था अच्छी थी और हमारा निर्णय सही समय पर लिया गया। यह कदम बिल्कुल सोच-समझ कर उठाया गया था। यह निर्णय दिवाली के बाद लिया गया, जब देशभर में व्यापार जोरों पर था। स्वच्छ भारत की तरह ही नोटबंदी का कदम भारत को (भ्रष्टाचार और कालेधन से) स्वच्छ करने के लिए उठाया गया।
नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

कांग्रेस पर साधा निशाना

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि चर्चा के दौरान आप (कांग्रेस) कह रहे थे कि कालाधन संपत्ति, हीरे जवाहरात के रूप में है। हम भी इस बात को मानते हैं। इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता कि भ्रष्टाचार का प्रारंभ नकदी से होता है। आगे इसका प्रवेश प्रॉपर्टी, आभूषण आदि में होता हैं। बेनामी सम्पत्ति को लेकर आने वाले दिनों में सख्त कदम उठाने का संकेत देते हुए उन्होंने सवाल किया, “यह सदन जानना चाहता है कि यह ज्ञान कांग्रेस को कब हुआ। क्या यह ज्ञान आपको आज ही हुआ।” उन्होंने कहा कि कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ वह जो कदम उठा रहे हैं, उससे उनके ऊपर क्या बीतेगी, क्या जुल्म होंगे, उन्हें मालूम हैं लेकिन वह प्रण के साथ आगे बढ़ते रहेंगे।

Share it
Top