पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों की मतगणना कल, चुनाव आयोग ने जारी किए दिशा निर्देश

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों की मतगणना कल, चुनाव आयोग ने जारी किए दिशा निर्देशकेन्द्रीय चुनाव आयोग।

नई दिल्ली (भाषा)। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के लिए हुए विधानसभा चुनावों की मतगणना कल होगी। देश के राजनीतिक भविष्य और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और उनके सुधार के एजेंडे के परिप्रेक्ष्य में एक तरह से जनमत संग्रह समझे जाने वाले इन चुनावों की मतगणना कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच होगी। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन भाजपा के रथ को रोकने को लेकर आशान्वित हैं, जिसे बिहार और दिल्ली में कड़ी शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

ये भी पढ़ें- एग्जिट पोल : उत्तर प्रदेश में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी

कांग्रेस का दावा है कि पंजाब की सत्ता की बागडोर इस बार उसे मिलने वाली है। वहीं पार्टी उत्तराखंड और मणिपुर में एक बार फिर से सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त दिख रही है। आम आदमी के लिए भी यह चुनाव काफी महत्व रखता है, जो दिल्ली से बाहर अपनी राजनीतिक साख जमाने की कोशिश में जुटी है और पार्टी ने पंजाब और गोवा में कड़ी चुनौती देने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। मतगणना कल सुबह आठ बजे शुरू होगी। केवल उत्तर प्रदेश में चुनाव केंद्रों पर 20,000 केंद्रीय बलों की तैनाती की गई हैं। इस तरह देश भर में चुनाव केंद्रों पर केंद्रीय बलों के कई हजार जवानों को तैनात किया गया है। उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में 78 मतगणना केंद्र बनाए गये हैं। राज्य में विधानसभा की कुल 403 सीटें हैं। 70 सदस्यीय उत्तराखंड विधानसभा के लिए 15 मतगणना केंद्र बनाये गये हैं।

ये भी देखें- अखिलेश का इशारा, त्रिशंकु विधानसभा हुई तो माया से हाथ मिलाने में नहीं परहेज

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पंजाब में 27 स्थानों के 54 मतदान केंद्रों पर मतों की गिनती की जाएगी। राज्य में विधानसभा की कुल 117 सीट हैं। गोवा में 40 सीटों पर हुए चुनावों के मतों की गणना दो केंद्रों पर होगी। मणिपुर विधानसभा की 60 सीट के लिए हुए चुनावों की मतगणना भी कल होगी। चुनाव आयोग ने मतगणना के लिए कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं और मतगणना कक्ष के भीतर मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं होगी। सामान्य पर्यवेक्षकों के इतर हर मतगणना टेबल पर एक माइक्रो-आब्जर्वर को भी तैनात किया जाएगा। मतगणना केंद्रों के आसपास त्रिस्तरीय सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। मतगणना केंद्रों के भीतर केवल केंद्रीय बलों की तैनाती की जाएगी। बाहरी क्षेत्र में स्थानीय पुलिस को ड्यूटी पर लगाया जाएगा। मतगणना केंद्रों के भीतर किसी भी अनधिकृत व्यक्ति के प्रवेश को रोकने के लिए अन्य राज्यों के पुलिस बलों की तैनाती की गई है।

प्रवेश स्थल पर भीड़ और लोगों के प्रवेश को नियंत्रित करने के लिए एक वरिष्ठ मजिस्ट्रेट को तैनात किया जाएगा। मतगणना केंद्र के 100 मीटर की परिधि में वाहनों को प्रवेश की इजाजत नहीं होगी। स्ट्रांग रूम से मतगणना कक्ष तक ईवीएम को ले जाने की निगरानी के लिए अतिरिक्त सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। कल जारी विभिन्न एग्जिट पोल में उत्तर प्रदेश, गोवा में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति पैदा होने और भाजपा को बढ़त मिलने की संभावना जताई गई है। पोल परिणाम में पंजाब में दस वर्ष के अंतराल के बाद सत्ता में वापस लौटने की कोशिश में जुटी कांगे्रस और अरविन्द केजरीवाल के आम आदमी पार्टी के बीच कड़ा संघर्ष दिख रहा है। एग्जिट पोल में उत्तराखंड में भाजपा की जीत की संभावना जतायी गयी है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

First Published: 2017-03-10 14:56:50.0

Share it
Share it
Share it
Top