डेयरी और सीमेंट कंपनी भी चला चुके हैं तमिलनाडु के नए मुख्यमंत्री

डेयरी और सीमेंट कंपनी भी चला चुके हैं तमिलनाडु के नए मुख्यमंत्री1989 में पहली बार विधायक बनने वाले पलानीसामी सलेम डेयरी और तमिलनाडु सीमेंट कंपनी कॉर्पोरेशन के चेयरमैन रहे चुके हैं।

लखनऊ। बदले नाटकीय घटनाक्रम के बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बनने जा रहे ई पलानीसामी डेयरी से लेकर सीमेंट कंपनी भी चला चुके हैं। साल 1989 में पहली बार विधायक बनने वाले पलानीसामी सलेम डेयरी और तमिलनाडु सीमेंट कंपनी कॉर्पोरेशन के चेयरमैन रहे चुके हैं। राज्य की ताकतवार जाति गौंदर समुदाय से आते हैं जो तमिमनाडु की जनसंख्या में सात प्रतिशत से ज्यादा है। निवर्तमान मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम और शशिकला थेवर जाति से हैं जिसकी राज्य में 8 से लेकर 10 प्रतिशत आबादी है। ऐसे में नए मुख्यमंत्री के सामने दोनों समुदायों को साधने की चुनौती होगी। अन्नाद्रमुक की सरकार में वरिष्ठता के क्रम में तीसरे नंबर पर आने वाले पलानीसामी लोक निर्माण, सिंचाई, राजमार्ग और पोत मंत्रालय का जिम्मा संभालते थे।

तमिलनाडु के सलेम जिले के ईडापड़ी विधानसभा सीट से पांचवी बार विधायक चुने गए पलानीसामी एक साल के लिए 1998 से लेकर 1999 तक सांसद भी रह चुके हैं। जयललिता की सरकार में हाईप्रोफाइल मंत्रालय संभालने के बाद भी पलानीसामी लो प्रोफाइल माने जाते हैं। जयललिता के बेहद वफादार रहे पलानीसामी शशिकला के भी करीबी हैं। 1980 में एआईडीएमके के संस्थापक एमजी रामचंद्रन से प्रभावित होकर राजनीति में आने वाले पलानीसामी ने हमेशा जयललिता का साथ दिया। साल 1987 में एमजी रामचंद्रन की मृत्य के बाद जब एआईडीएमके में दो फाड़ हुआ उस समय वह पलानीसामी जयललिता खेमे के साथ गए थे।

First Published: 2017-02-16 18:36:04.0

Share it
Share it
Share it
Top