भारत में आतंकवादी हमलों की साजिश रचने के जुर्म में भारतीय को 15 वर्ष की जेल 

भारत में आतंकवादी हमलों की साजिश रचने के जुर्म में भारतीय को 15 वर्ष की जेल भारतीय नागरिक को 15 वर्ष की जेल की सजा सुनाई गई है।

न्यूयॉर्क (भाषा)। स्वतंत्र सिख राष्ट्र के निर्माण के लिए खालिस्तान आंदोलन के तहत भारत में आतंकी हमलों का समर्थन करने की साजिश रचने और एक भारतीय अधिकारी की हत्या के मामले में एक भारतीय नागरिक को 15 वर्ष की जेल की सजा सुनाई गई है।

नेवादा जिले के अमेरिकी अटार्नी डैनियल बोगडेन और एफबीआई के लॉस वेगास डिवीजन के विशेष प्रभारी एजेंट एरोन सी राउस ने कहा कि रेनो में अमेरिकी जिला न्यायाधीश लैरी हिक्स ने 42 वर्षीय बलविंदर सिंह को स्वतंत्र सिख राष्ट्र बनाने के लिए आतंकवादियों को सहायता और संसाधन प्रदान कर साजिश रचने के मामले में कल 180 महीने की जेल की सजा सुनाई है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बोगडेन ने कहा रेनो का निवासी सिंह दो आतंकवादी गुटों का सदस्य था और उसने भारत सरकार को डराने के लिए और आतंकवादी गुटों का समर्थन नहीं करने वालों को नुकसान पहुंचाने के लिए आतंवादियों को सहायता उपलब्ध कराई थी। बोगडेन ने कहा, ‘‘यह अमेरिका और हमारे विदेशी सहयोगियों की आतंकवादी गतिविधियों से रक्षा करने के लिए कई कानून प्रवर्तन एजेंसियों के एक साथ मिलकर काम करने का एक उदाहरण है।''

सिंह एक भारतीय मूल का अमेरिकी नागरिक है। उसने पिछले वर्ष नवंबर में अपना जुर्म कुबूल कर लिया था। अदालत के दस्तावेजों के अनुसार सिंह ने वर्ष 2013 में सितंबर से दिसंबर के बीच भारत में हमलों के लिए आतंकवादियों का समर्थन करने की साजिश रची थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top