महिला अधिकारों को लेकर तुर्की में दस हजार महिलाओं ने निकाला मार्च 

महिला अधिकारों को लेकर तुर्की में दस हजार महिलाओं ने निकाला मार्च इस्तांबुल में 10,000 लोगों ने कल इस्टिकलाल एवेन्यू तक लंबा मार्च निकाला।

इस्तांबुल (एएफपी)। पूरे तुर्की में महिला अधिकारों को लेकर हजारों महिलाएं सड़कों पर उतरीं तो कुछ ने राष्ट्रपति के शक्तियों के विस्तार के खिलाफ भी रैली निकाली।

इस्तांबुल में 10,000 लोगों ने कल इस्टिकलाल एवेन्यू तक लंबा मार्च निकाला और इसमें ‘पुरुष हिंसा की समाप्ति' और ‘तईप, तईप, भागो, भागो हम आ रहे हैं' जैसे नारे लगाए गये। इस मार्च में अधिकांश महिलाएं थी।‘तईप‘ का मतलब तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तईप एरडोगन से था जो एक कार्यकारी राष्ट्रपति का पद बनाना और प्रधानमंत्री का पद समाप्त कर देना चाहते हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

16 अप्रैल को तुर्की की जनता इस बात के लिए वोट करेगी कि वर्तमान व्यवस्था को बरकरार रखना है या नहीं, जिसके बारे में सरकार का तर्क है कि वह अस्थिरता का कारण है जबकि आलोचकों का कहना है कि एरडोगन को ज्यादा शक्तियों से देश एक व्यक्ति के शासन की तरफ बढ़ जाएगा।

इस्तांबुल की भीड़ में अधिकांश लोगों ने गहरे बैगनी रंग का परिधान पहन रखा था जो ‘महिलाएं स्वतंत्र हैं' और ‘हम लोग मजबूती से एकजुट' है जैसी तख्तियां हाथ में लेकर सड़कों पर उतरे थे। इस मार्च का आयोजन महिलाओं के अधिकारों के लिए काम करने वाले कई संगठनों ने किया था जिसमें एलजीबीटी सदस्यों सहित युवतियां छात्र और पुरुष भी शामिल थे।

Share it
Top