मैनपुरी जिले के बाजपुर और जोत गाँव होंगे डिजिटल

मैनपुरी जिले के बाजपुर और जोत गाँव होंगे डिजिटलमैनपुरी में विकास खंड बेवर के गाँव बाजपुर और जोत को डिजिटल कार्यक्रम के तहत चुना गया है।

मैनपुरी। कैशलेस ट्रांजेक्शन बढ़ने के बाद अब मैनपुरी के दो गाँवों को भी डिजिटल करने की कवायद शुरू हो गई है। विकास खंड बेवर के गाँव बाजपुर और जोत को डिजिटल कार्यक्रम के तहत चुना गया है।

प्रशासन के स्तर से शासन को इनकी सूची भेजकर यहां कार्यशाला के माध्यम से ग्रामीणों को कैशलेस सुविधा की जानकारी देने की तैयारी की जा रही है। यहां न सिर्फ सभी के खाते खुलवाए जाएंगे, बल्कि प्रत्येक खाताधारक को एटीएम कार्ड भी उपलब्ध कराए जाएंगे।

प्रशासन ने जिले में विकास खंड बेवर के दो गाँवों बाजपुर और जोत को पूरी तरह से डिजिटल करने के लिए चयन किया है। दोनों गाँवों में प्रत्येक व्यक्ति के खाते खुलवाए जाएंगे। इतना ही नहीं, प्रत्येक व्यक्ति को एटीएम उपलब्ध कराकर उनके उपयोग की जानकारी और लाभ भी समझाए जाएंगे।

योजना के तहत चुने गए दोनों गाँवों में काम प्रारंभ कराया जा रहा है। जल्द ही शिविरों के माध्यम से दोनों गाँवों के ग्रामीणों को योजना की जानकारी दी जाएगी। योजना सफल हो सके, इसके लिए बैंक मित्रों की भी मदद ली जाएगी।
डी.के. अग्रवाल, अग्रणी जिला प्रबंधक

दोनों गाँवों में नहीं हैं बैंक

बाजपुर और जोत दोनों जिले के ऐसे गाँव हैं, जहां आसपास बैंक की कोई सुविधा नहीं है। बाजपुर के ग्रामीणों को खाता खुलवाने के लिए आठ किमी की दूरी तय करके बेवर जाना पड़ता है। गाँव जोत के लोग तो नौ किमी की दूरी तय कर नवीगंज स्थित बैंक शाखा में जाते हैं। ऐसे में सिर्फ आवाजाही में आधा दिन बीत जाता है।

बाजपुर-जोत गाँव पर एक नजर

  • आबादी लगभग 2 हजार
  • 25 प्रतिशत लोगों के ही हैं बैंक खाते
  • पांच फीसदी लोगों के पास ही हैं एटीएम
  • आठ किमी दूर बेवर शाखा में जाकर करते हैं लेन-देन
  • पांच हजार है जोत की आबादी
  • 30 प्रतिशत लोगों के हैं बैंक में खाते
  • आठ प्रतिशत लोग ही कर रहे एटीएम का इस्तेमाल

Share it
Share it
Share it
Top