सेबी अर्थव्यवस्था की जरुरतों के हिसाब से कर रहा है अपना विकास: जेटली

सेबी अर्थव्यवस्था की जरुरतों के हिसाब से कर रहा है अपना विकास: जेटलीवित्त मंत्री ने अपनी बजट पहल का बाजार नियामक के साथ विचार विमर्श किया।

नई दिल्ली (भाषा)। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) अर्थव्यवस्था की जरुरत और और बाजार के हिसाब से एक पेशेवर संगठन के रुप में अपना विकास कर रहा है। वित्त मंत्री ने अपनी बजट पहल का बाजार नियामक के साथ विचार विमर्श किया।

जेटली ने सेबी के निदेशक मंडल और शीर्ष अधिकारियों के साथ बजट के बाद होने वाली परंपरागत बैठक में आज बैठक की और बजट प्रस्तावों के संदर्भ में पूंजी बाजार नियामक के भविष्य के एजेंडा पर विचार विमर्श किया। इसमे प्रौद्योगिकी का विकास और नीतिगत बदलाव भी शामिल हैं।

जेटली ने कहा, ‘‘सेबी एक अच्छे अनुभव वाला पेशेवर संगठन है और यह अपना विकास अर्थव्यवस्था और बाजार की जरुरत के मुताबिक कर रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्य रुप से हमने बाजार से संबंधित मुद्दों पर विचार विमर्श किया। इनमें भविष्य के एजेंडा से संबंधित मुद्दे जो सेबी के खुद के एजेंडा में हैं। बाजार और प्रौद्योगिकियों में विभिन्न बदलाव और इनमें से कुछ बजट घोषणाओं की वजह से जरुरी हैं।

मंत्री ने कहा, ‘‘आज की बैठक में हमने आज इन विषयों पर विचार विमर्श किया।'' बैठक में वित्त राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल तथा सेबी के मनोनीत चेयरमैन अजय त्योगी (फिलहाल वित्त मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव) मौजूद थे।

सेबी के मौजूदा चेयरमैन यू के सिन्हा और बोर्ड के अन्य सदस्य तथा शीर्ष अधिकारियों भी बैठक में शामिल हुए। सिन्हा का कार्यकाल आगामी एक मार्च को पूरा हो रहा है। सिन्हा के बाद त्यागी पदभार संभालेंगे।

Share it
Top