उत्तर कोरिया के जवाब में अमेरिका ने दक्षिण कोरिया में बैलिस्टिक मिसाइलरोधी रक्षा प्रणाली तैनात करना शुरू किया

उत्तर कोरिया के जवाब में अमेरिका ने दक्षिण कोरिया में बैलिस्टिक मिसाइलरोधी रक्षा प्रणाली तैनात करना शुरू कियाअमेरिका का झंडा।

वाशिंगटन (एएफपी)। अमेरिकी सेना ने उत्तर कोरिया द्वारा मिसाइल परीक्षण किए जाने के बाद दक्षिण कोरिया में बैलिस्टिक मिसाइलरोधी रक्षा प्रणाली तैनात करनी आरंभ कर दी है। अमेरिकी प्रशांत कमान ने यह जानकारी दी।

परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया ने कल चार मिसाइलें प्रक्षेपित की थीं और उसने कहा था कि ये प्रक्षेपण जापान में अमेरिकी सैन्य अड्डों पर हमले के प्रशिक्षण का हिस्सा थे। इनमें से तीन मिसाइलें जापान के बहुत निकट आ गई थीं। उत्तर कोरिया की ओर से प्रक्षेपण के बाद अमेरिकी प्रशांत कमान ने यह घोषणा की।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

अमेरिकी प्रशांत कमान ने एक बयान में कल कहा कि टर्मिनल हाई एल्टीट्यूड एरिया डिफेंस (थाड) प्रणाली की तैनाती ‘‘कई परतों वाली मिसाइल रक्षा प्रणाली में योगदान देगी और इससे उत्तर कोरियाई मिसाइल खतरों से अमेरिका-आरओके गठबंधन की रक्षा व्यवस्था मजबूत होगी।''

प्रशांत कमान ने कहा, ‘‘उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार परीक्षणों और बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपणों का बढ़ता कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को खतरा है और यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कई प्रस्तावों का उल्लंघन हैं।''

दक्षिण कोरिया और अमेरिका ने पिछले साल थाड प्रणाली तैनात करने पर सहमति जताई थी जिसे चीन ने उसकी सुरक्षा को खतरा बताते हुए उसकी बार बार निंदा की।

एशिया प्रशांत में अमेरिकी सैन्य अभियानों पर नजर रखने वाले प्रशांत कमान ने इशारा किया कि यह प्रणाली ‘‘पूरी तरह से एक रक्षात्मक क्षमता है और इससे क्षेत्र में किसी अन्य देश को कोई खतरा नहीं है।''

इस प्रणाली का मकसद कम एवं मध्यम दूरी की मारक क्षमता वाली बैलिस्टिक मिसाइलों की उड़ान के अंतिम चरण में उन्हें रास्ते में रोकना और नष्ट करना है।

Share it
Share it
Share it
Top