क्या आप जानते हैं एक सितंबर का इतिहास

क्या आप जानते हैं एक सितंबर का इतिहास

भारतीय जीवन बीमा निगम का स्थापना दिवस, जिंदगी के साथ भी, जिंदगी के बाद भी की असरदार टैगलाइन के साथ देश के लाखों लोगों को बीमा की सेवाएं देने वाले भारतीय जीवन बीमा निगम की स्थापना 62 साल पहले एक सितंबर के दिन ही की गई थी।

पढ़ने लिखने के काम में लगे लोगों के लिए शब्दकोश या डिक्शनरी का प्रयोग अनिवार्य है और शब्दकोश को तैयार करना अपने काम में बहुत मुश्किल काम माना जाता है। भारत में शब्दकोश का जिक्र आते ही फादर कामिल बुल्के का नाम जहन में आता है। फादर बुल्के का जन्म भी एक सितंबर को ही हुआ था।

इतिहास के पन्नों में एक सितंबर की तारीख में दर्ज कुछ अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:-

1878: एम्मा एम नट्ट अमेरिका में पहली महिला टेलीफोन ऑपरेटर बनी।

1909: प्रसिद्ध साहित्यकार फ़ादर कामिल बुल्के का जन्म।

1923: ग्रेट कैंटो भूकंप ने जापान के टोक्यो और योकोहामा शहरों में भारी तबाही मचायी।

1964: इंडियन ऑयल रिफ़ाइनरी और इंडियन ऑयल कम्पनी को विलय करके इंडियन ऑयल कॉपरेशन बनाई गयी।

1947: भारतीय मानक समय को अपनाया गया।

1956: भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की स्थापना।

1956: राज्‍यों के पुनर्गठन के बाद त्रिपुरा केंद्रशासित प्रदेश बना।

1962: महाराष्ट्र के कोल्हापुर में शिवाजी विश्वविद्यालय की स्थापना।

1997: साहित्यकार महाश्वेता देवी तथा पर्यावरणविद एम.सी. मेहता को 1997 का रेमन मैग्सेसे पुरस्कार प्रदान किया गया।

2000: चीन ने तिब्बत होते हुए नेपाल जाने वाले अपने एकमात्र रास्ते को बंद किया।

भारतीय क्रिकेटर माधव मंत्री का जन्म 1 सितंबर 1921 को हुआ था।

मशहूर पटकथा लेखक, नाट्य निर्देशक, कवि और अभिनेता हबीब तनवीर का जन्म 1 सितंबर 1923 को हुआ था।

राजस्थानी भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार विजयदान देथा का जन्म 1 सितंबर 1926 को हुआ था।

बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी और प्रसिद्ध साहित्यकार राही मासूम रज़ा का जन्म 1 सितंबर 1927 को हुआ था।

हिन्दी के कवि और ग़ज़लकार दुष्यंत कुमार का जन्म 1 सितंबर 1933 को हुआ था।

भारत के राजनीतिज्ञों में से एक - पी. ए. संगमा का जन्म 1 सितंबर 1947 को हुआ था।

भारतीय अभिनेत्री पद्मा लक्ष्मी का जन्म 1 सितंबर 1970 को हुआ था।

मशहूर धारावाहिक अभिनेता राम कपूर का जन्म 1 सितंबर 1973 को हुआ था।

ये भी पढ़ें: These girls want to 'Chak de" for India: Bare-feet hockey players from UP village who are wowing with their enthusiasm

Share it
Top