पर्यटन मंत्रालय ने 'राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार' के लिए मांगे हैं आवेदन, जानिए कौन और कैसे भेज सकता है एंट्री

पर्यटन मंत्रालय ने 2018-19 के राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की हैं, जिसके लिए 10 अगस्त तक आवेदन भेज सकते हैं।

पर्यटन मंत्रालय ने राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार के लिए मांगे हैं आवेदन, जानिए कौन और कैसे भेज सकता है एंट्री

हैदराबाद का मशहूर चारमीनार। फोटो: दिवेंद्र सिंह

देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन मंत्रालय नए पहल करता रहता है, इसी क्रम में पर्यटन के क्षेत्र में बढ़िया काम करने वालों के लिए राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार भी है, जिसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

पर्यटन मंत्रालय ने 2018-19 के राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की हैं, जिसके 10 अगस्त तक इंट्री भेज सकते हैं।

भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय ने पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए व्यक्तियों और संगठनों से आवेदन आमंत्रित किए हैं। यात्रा व पर्यटन उद्योग के विभिन्न क्षेत्रों जैसे कि राज्य सरकारें/केंद्र शासित प्रदेश, वर्गीकृत होटल, धरोहर होटल, मान्यता प्राप्त ट्रैवल एजेंट, टूर ऑपरेटर्स और टूरिस्ट ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर्स, व्यक्ति और अन्य निजी संगठन द्वारा उनके क्षेत्र में प्रदर्शन को मान्यता प्रदान करते हुए राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार दिए जाते हैं।

पर्यटन को बढ़ावा देते हुए स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को प्रोत्साहित करना भी इसका उद्देश्य है। पुरस्कार के लिए प्रविष्टियां अप्रैल 2018 से मार्च 2019 की अवधि के दौरान प्रकाशित या फिर गतिविधि हुई हो।

कैसे कर सकते हैं आवेदन

जिस श्रेणी में एंट्री भेजनी है, उससे संबंधित विभाग में 10 अगस्त, 2021 तक भेज देना है। एंट्री जिस फॉर्मेट में मांगी जाए, उसी में भेजनी होगी।

ई-मेल आईडी केवल पूछताछ के लिए दी जाएगी। एंट्री ई-मेल के जरिए नहीं बल्कि हार्ड कॉपी ही स्वीकार की जाएंगी। सभी आवेदन के लिए 100 शब्दों का ब्रीफ भी देना होगा। और जिसके लिए आवेदन कर रहे हैं उसकी एक फोटो और आवेदन पत्र में बंद लिफाफे में भेजना होगा।

पिछली बार इन्हें मिला था पुरस्कार

साल 2017-18 के लिए 2019 में राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार दिए गए थे। इसमें पर्यटन के समग्र विकास के लिए आन्ध्र प्रदेश को पहला, गोवा को दूसरा और केरल को तीसरा पुरस्कार मिला था। रोमांचक पर्यटन की श्रेणी में यह पुरस्कार गोवा व मध्य प्रदेश को संयुक्त रूप से दिया गया।

मध्य प्रदेश के ओरछा को संयुक्त रूप से सर्वश्रेष्ठ हैरिटेज सिटी का पुरस्कार दिया गया था, जबकि सर्वश्रेष्ठ टूरिस्ट फ्रैंडली रेलवे स्टेशन का पुरस्कार विशाखापट्टनम रेलवे स्टेशन को मिला।

सर्वश्रेष्ठ हवाई अड्डे का पुरस्कार श्रेणी के शहरों में बम्बई स्थित छत्रपति शिवाजी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को और अन्य शहरों के मामले में यह देवी अहिल्याबाई होल्कर हवाई अड्डे को मिला था।

'सर्वश्रेष्ठ फिल्म निर्माण मित्र राज्य' का पुरस्कार उत्तराखण्ड को दिया मिला था, जबकि बेस्ट स्टेट फॉर एडवंचर टूरिज्म का पुरस्कार मध्य प्रदेश व गोवा को संयुक्त रूप से दिया गया।

स्वच्छता पुरस्कार इंदौर म्यूनिस्पिल कॉर्पोरेशन को दिया गया था। सर्वश्रेष्ठ 'टूरिज्म फ्रेंडली गोल्फ कोर्स' का पुरस्कार नोएडा स्थित जेपी ग्रीन गोल्फ कोर्स को मिला।

5 स्टार डीलक्स श्रेणी के होटलों में सर्वश्रेष्ठ होटल का पुरस्कार द ओबेराय उदय बिलास (उदयपुर) को मिला था, वहीं वहीं 5-स्टार होटलों की श्रेणी में द ट्राइडेंट (चेन्नई) को, 4-स्टार होटलों की श्रेणी में ताज गेटवे (चिकमंगलूर) को और 3-स्टार होटलों की श्रेणी में होटल लेमन ट्री, औरंगाबाद को सर्वश्रेष्ठ होटल के पुरस्कार दिए गए।

सर्वश्रेष्ठ पर्यावरण मित्र होटल का पुरस्कार मेलुहा द फर्न, मुम्बई को मिला।

सर्वश्रेष्ठ द्विव्यांग मित्र स्मारक का पुरस्कार सांची के बुद्ध स्मारक को दिया गया था।

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.