Top

लखनऊ के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में जल्द ही लगाए जाएंगे ऑक्सीजन प्लांट

ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए लखनऊ के सरकारी और प्राईवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे, साथ ही 200 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स भी मंगाए जा रहे हैं।

लखनऊ के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में जल्द ही लगाए जाएंगे ऑक्सीजन प्लांट

Photo: Pixabay

लखनऊ जिले के सरकारी और निजी अस्पतालों में जिला आपदा राहत निधि से जल्द ही ऑक्सीजन प्लान्ट स्थापित किए जाएंगे। लखनऊ की कोविड-19 प्रभारी अधिकारी, डॉ रोशन जैकब ने ऑक्सीजन प्लान्ट लगाने वाली कंपनियों के साथ ही कई अधिकारियों के साथ बैठक की।

लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन पर निर्भरता कम हो इसके लिए जिला आपदा राहत निधि से जिले की सरकारी और निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लान्ट स्थापित करने की योजना बनाई गयी है। ऑक्सीजन प्लान्ट की स्थापना करने वाले देश की प्रमुख कम्पनियों के साथ मण्डलायुक्त, लखनऊ मण्डल लखनऊ के साथ प्रभारी अधिकारी, कोविड-19, जनपद-लखनऊ डॉ रोशन जैकब के द्वारा की गयी जूम वार्ता के क्रम में कोटेशन प्राप्त किया गया। डॉ० रोशन जैकब ने बताया कि विचार करते हुए समिति द्वारा कार्यों के लिए स्वीकृत प्रदान की गयी।

डॉ रोशन जैकब ने बताया कि ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के साथ ही 10 लीटर/मिनट के 200 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स खरीदने का भी निर्णय लिया गया है। इन सबको जल्द से जल्द खरीदने के लिए अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) लखनऊ को पत्र दे दिया गया है, ताकि अस्पतालों में प्लान्टों की स्थापना जल्द से जल्द हो जाए।

फोटो: गाँव कनेक्शन

देश में बीते एक हफ्ते से रोजाना 3 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. कोरोना के कहर को कम करने के लिए देश के कई राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू हैं। बावजूद मंगलवार को आंकड़ों में बढ़ोतरी देखी गई। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से मिले आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,60,960 नए मामले सामने आए और 3293 लोगों की मौत हो गई।

देश के कुल केसों में 73.59% पॉजिटिव केस सिर्फ 10 राज्यों से आए, जिनमें महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान शामिल हैं। पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में सबसे अधिक नए मामले 66,358 दर्ज किए गए हैं। इसके बाद उत्तर प्रदेश में 32,921 और केरल में 32,819 नए मामले सामने आए।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.