बनारस के कई गाँव के लोग कर रहे हैं चुनाव का बहिष्कार

गाँव कनेक्शनगाँव कनेक्शन   17 April 2019 11:22 AM GMT

अमल श्रीवास्तव

कम्युनिटी जर्नलिस्ट

वाराणसी (उत्तर प्रदेश)। हर बार चुनाव के पहले प्रत्याशी वोट मांगने आ जाते हैं, लेकिन इस गाँव में आज तक सड़क नहीं बन पायी है। हालत ये है कि किसी को अस्पताल ले जाना होता है तो चारपाई पर लादकर ले जाते हैँ।

वाराणसी का शिवपुर विधानसभा क्षेत्र जो वर्तमान में चंदौली संसदीय क्षेत्र में आता है, जहां के सांसद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय है। इस विधानसभा क्षेत्र के चिरईगांव ब्लॉक में भगतुआ से चंदौली की ओर बलुआ पुल के रास्ते जाने वाले मार्ग पर रोजाना लगभग 10 हजार लोगों का आवागमन होता है। इसी लिंक रोड से जुड़े गांव मिश्रपुर, धराहर गंगापुर के सड़कों की हालत बद से बद्दतर है।

गंगापुर गाँव की कलावती कहती हैं, "जब वोट मांगना होता है तो कहते हैं कि सड़क बन जाएगी, लेकिन उसके बाद दिखायी तक नहीं देते हैं। इस बार हमने सोच लिया है जब तक सड़क नहीं बन जाती है हम वोट नहीं करेंगे।

मिश्रपुर में जहां कंक्रीट वाला उबड़ खाबड़ मार्ग है, तो वहीं गंगापुर की स्थिति तो इससे भी बुरी है। धराहर ग्रामसभा के गंगापुर में आज तक कोई चार पहिया गाड़ी नहीं पहुंची है,क्योंकि यहां पगडंडियों के रास्ते दो पहिया वाहन ही पहुंच सकता है। इस गांव में गर्भावस्था में डिलीवरी के समय महिलाओं को चारपाई पर लिटाकर चार किलोमीटर पैदल लेकर जाना पड़ता है। तब जाकर साधन मिल पाता है।

ये भी पढ़ें : चुनाव की ये रिपोर्टिंग थोड़ी अलग है, जब गांव की एक युवती बनी रिपोर्टर

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top