कुदरत की मार : कर्ज़ लेकर बोया था गेहूं, आग लगने से पूरी फसल राख

Mohit AsthanaMohit Asthana   6 April 2017 4:57 PM GMT

कुदरत की मार : कर्ज़ लेकर बोया था गेहूं, आग लगने से पूरी फसल राखफसल जलने के बाद खेत देखते गाँव के लोग। 

रहनुमा बेगम , स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

औरैया। एक एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल में अज्ञात कारणों से आग लग गई। ग्रामीणों ने आग को बुझाने का प्रयास किया, लेकिन आग की लपटों ने किसी को पास में नहीं जाने दिया। जब तक फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची तब तक फसल जलकर राख हो गई।

जिला मुख्यालय से 14 किलोमीटर दूर गाँव सिंदुरिया आलमपुर निवासी सुघर सिंह पुत्र मेवाराम की एक एकड़ में गेहूं की पकी हुई फसल खड़ी थी। अचानक फसल में आग लग गई। प्रधान प्रतिनिधि आनंद कुमार (38 वर्ष) ने बताया कि लेखपाल को सूचना दी गयी मीटिंग में होने के कारण वह नहीं आ सके।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रधान ने जिलाधिकारी से फसल का मुआवजा दिलाए जाने की मांग की। गाँव के सभी लोग बाल्टी में पानी लेकर खेतों की तरफ भागने लगे। तेज हवा के कारण आग पर काबू पाना मुश्किल हो रहा था। आग की लपटें इतनी तेज उठ रही थीं कि लोग 50 मीटर दूर भी नहीं खड़े हो पा रहे थे। वहीं खेत पर लगे टयूबवेल से आग पर जब तक काबू पाया गया तब तक पूरे खेत की फसल जलकर राख हो गई।

फसल जलने के बाद फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची, इससे किसानों काफी आक्रोश दिखाई। किसान सुघर सिंह बताते हैं, “मैंने गेहूं की फसल कर्ज लेकर बोई थी। फसल जल जाने से अब कर्ज कैसे अदा करेगा।” गाँव के किसानों ने उसे कर्ज अदा कराने के लिए आर्थिक सहयोग दिलाए जाने का आश्वासन दिया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top