गेहूं, चावल और मक्का समेत 6 फसलों में रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान, तीसरे अग्रिम अनुमान में 30.55 करोड़ टन खाद्यान का अनुमान

कोरोना से जूझते देश के लिए राहत की खबर है। तीसरे अग्रिम अनुमान में कृषि मंत्रालय ने 6 फसलों समेत खाद्यान में रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान जताया है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा किसानों की मेहनत, सरकार के सहयोग और वैज्ञानिकों के चलते ऐसा हो सकता है।

गेहूं, चावल और मक्का समेत 6 फसलों में रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान, तीसरे अग्रिम अनुमान में 30.55 करोड़ टन खाद्यान का अनुमान

नई दिल्ली। कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने 2020-21 के लिए प्रमुख कृषि फसलों के उत्पादन का तीसरा अग्रिम अनुमान जारी किया है। कुल खाद्यान्न उत्पादन 30.544 करोड़ टन रहने का अनुमान है। जो 2019-20 के दौरान हुए कुल 29.75 करोड़ टन खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 79.4 लाख टन ज्यादा है।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, "हमारे किसान भाइयों और बहनों के अथक प्रयासों, कृषि वैज्ञानिकों के योगदान, भारत सरकार की नीतियों और राज्य सरकारों से मिले बेहतर सहयोग और समन्वय के चलते यह सकारात्मक स्थिति बनी है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का जोर कृषि क्षेत्र के विकास पर है।"

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के बयान के मुताबिक विभिन्न फसलों के उत्पादन का आंकलन राज्यों से मिले आंकड़ों पर आधारित है और अन्य स्रोतों से उपलब्ध जानकारी से इसका सत्यापन किया गया है। 2005-06 से अभी तक का प्रमुख फसलों के उत्पादन का तुलनात्मक अनुमान जारी किया गया है।

तीसरे अग्रिम अनुमान के तहत, 2020-21 के दौरान प्रमुख फसलों का अनुमानित उत्पादन इस प्रकार है :

खाद्यान्न 30.544 करोड़ टन। (रिकॉर्ड)

चावल 12.146 करोड़ टन। (रिकॉर्ड)

गेहूं 10.875 करोड़ टन। (रिकॉर्ड)

पोषक तत्व/ मोटे अनाज 4.966 करोड़ टन।

मक्का 3.024 करोड़ टन। (रिकॉर्ड)

दालें 2.558 करोड़ टन।

तुअर 0.414 करोड़ टन।

चना 1.261 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)

तिलहन 3.657 करोड़ टन।

मूंगफली 1.012 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)

सोयाबीन 1.341 करोड़ टन।

रेपसीड और सरसों 0.999 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)

गन्ना 39.280 करोड़ टन।

कपास 3.649 करोड़ गांठें (प्रत्येक 170 किग्रा)

जूट और मेस्टा 0.962 करोड़ गांठें (प्रत्येक 180 किग्रा)

2020-21 के लिए तीसरे अग्रिम अनुमान के तहत, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 30.544 करोड़ टन रहने का अनुमान है, जो 2019-20 के दौरान हुए कुल 29.75 करोड़ टन खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 79.4 लाख टन ज्यादा है। इसके अलावा 2020-21 के दौरान उत्पादन पिछले पांच वर्षों (2015-16 से 2019-20) के औसत खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 2.666 करोड़ टन ज्यादा है।

वर्ष 2020-21 के दौरान चावल का कुल उत्पालदन रिकॉर्ड 12.146 करोड़ टन रहने का अनुमान है। यह विगत 5 वर्षों के 11.244 करोड़ टन औसत उत्पाोदन की तुलना में 90.1 लाख टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान गेहूं का कुल उत्पानदन रिकॉर्ड 10.875 करोड़ टन अनुमानित है। यह विगत पांच वर्षों के 10.042 करोड़ टन औसत गेहूं उत्पा1दन की तुलना में 83.2 लाख टन अधिक है।

पोषक/मोटे अनाजों का उत्पा दन 4.966 करोड़ टन अनुमानित है, जो वर्ष 2019-20 के दौरान हुए 4.775 करोड़ टन उत्पाददन की तुलना में 19.1 लाख टन अधिक है। इसके अलावा, यह औसत उत्पापदन की तुलना में भी 56.8 लाख टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान कुल दलहन उत्पा दन 2.558 करोड़ टन अनुमानित है जो विगत पांच वर्षों के 2.193करोड़ टन औसत उत्पाउदन की तुलना में 36.4 लाख टन अधिक है।

2020-21 के दौरान कुल तिलहन उत्पापदन रिकॉर्ड 3.657 करोड़ टन अनुमानित है जो 2019-20 के दौरान 3.322 करोड़ टन उत्पामदन की तुलना में 33.5 लाख टन अधिक है। इसके अलावा, 2020-21 के दौरान तिलहनों का उत्पाादन औसत तिलहन उत्पाकदन की तुलना में 60.2 लाख टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान देश में गन्नेख का उत्पा दन 39.280 करोड़ टन अनुमानित है। वर्ष 2020-21 के दौरान गन्ने का उत्पापदन औसत गन्नाउ उत्पामदन 36.207 करोड़ टन की तुलना में 3.073 करोड़ टन अधिक है।

कपास का उत्पाुदन 3.649 करोड़ गांठें (प्रति 170 किग्रा की गांठें) अनुमानित हैं, जो औसत कपास उत्पा दन की तुलना में 45.9लाख गांठें अधिक है। जूट एवं मेस्ता का उत्पानदन 96.2 लाख गांठें (प्रति 180 किग्रा की गांठें) अनुमानित हैं।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.