भारी बारिश से उड़द और सोयाबीन की फसलें बर्बाद

भारी बारिश से उड़द और सोयाबीन की फसलें बर्बाद

लखनऊ। देश के कई हिस्सों में दो दिन से हो रही लगातार बारिश से जहां मौसम ठंडा हो गया है तो वहीं अच्छी फसल की उम्मीद लगाए किसानों की उम्मीदों पर भी पानी फिर गया है।

दो दिन से उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार और नई दिल्ली के कई जिलों में रुक रुककर बारिश हो रही है। राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान, नई दिल्ली के अनुसार आगामी दो दिनों तक मध्य प्रदेश और नई दिल्ली में भारी बारिश होगी। वहीं इस बारिश से सोयाबीन और उड़द को भारी नुकसान पहुंचने की आशंका जताई जा रही है।

बदलते मौसम में सोयाबीन की फसल में कई रोग व कीट का खतरा, वैज्ञानिकों ने जारी की चेतावनी

मौसम विभाग के अनुसार ये बारिश डेई तूफान के कारण तो हो ही रही है लेकिन अभी मानसूनी बारिश भी है। इस बारिश से सबसे ज्यादा नुकसान मध्य प्रदेश, राजस्थान के सोयाबीन और उड़द लगाने वाले किसानों को हुआ है। मौसम विभाग की चेतावनी के अनुसार 23 और 24 सिंतबर को मध्य प्रदेश में और बारिश होगी।


मध्य प्रदेश, जिला राजगढ़ के किसान राघवेंद्र बताते हैं "इस बारिश से बहुत नुकसान है। अभी पूरी फसल कट नहीं पाई थी। जिन खेतों की फसल कट हो गयी वहां भी अब परेशानी होगी क्योंकि पौधे फिर से उगने लगेंगे। बची हुई फसल बर्बाद हो गयी है। मैंने 25 एकड़ में सोयाबीन में लगाया था।"

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश के सोयाबीन किसानों पर मौसम की मार, मुआवजे के लिए जल सत्याग्रह

इंदौर और राजगढ़ में भी दो दिनों से बारिश हो रही है। "उड़द की पूरी फसल पक गयी थी। कटाई भी शुरू हो चुकी थी लेकिन गुरुवार से लगातार हो रही बारिश के कारण फसल गिर गयी है। पानी भी भर गया है। अब तो मुश्किल है कि उसमें से अनाज मिल पाए।"

ये भी पढ़ें- पूरे सितंबर हो सकती है मानसूनी बारिश, लेकिन घट सकता है खरीफ फसलों का उत्पादन

राजस्थान के बीना जिले में इस साल 22 हजार हेक्टेयर में उड़द की फसल लगी थी लेकिन बारिश से सब चौपट होने के कगार पर पहुंच चुका है। बीना के किसान कन्हैयाल बताते हैं " बारिश ने में कहीं नहीं छोड़ा। इस बारिश बहुत नुकसान हुआ है।"

वहीं बीना के कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी (आरएइओ) राकेश परिहार ने बताया कि अभी नुकसान का आंकलन नहीं हो पाया है। बारिश के बाद ही सही स्थिति का जायजा मिल पायेगा।


Share it
Top