यहाँ मिर्च की खेती से 5 लाख तक की कमाई कर रहे हैं किसान

स्वाद में तीखी मिर्च किसानों के जीवन में मिठास घोल रही है। यूपी में इस फसल के अच्छे उत्पादन के साथ- साथ किसान दूसरी फसलें भी लगा कर अच्छी कमाई कर रहे हैं।

Virendra SinghVirendra Singh   16 May 2024 12:14 PM GMT

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में मिर्च की खेती किसानों की अब पहली पसंद है। यहाँ की मिर्च देश के अलग-अलग राज्यों के साथ ही कई अरब देशों तक जाती है।

प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगभग 60 किमी दूर बाराबंकी जिले के फतेहपुर ब्लॉक के कई गाँवों में इन दिनों दूर-दूर तक मिर्च की खेत ही नज़र आएँगे। मिर्च की खेती से किसानों की अच्छी आमदनी हो जाती है।

पिछले कई साल से मिर्च की खेती कर रहे वीरेंद्र मौर्य गाँव कनेक्शन से बताते हैं, "मिर्च की खेती का ये फायदा होता है कि इसके साथ दूसरी फसलें भी लगा सकते हैं, अभी हमने लहसुन के साथ इसकी खेती की है; एक एकड़ में 40 से 50 हज़ार की लागत आती है और चार से पाँच लाख रुपए की मिर्च का उत्पादन हो जाता है।"

भारत के 10 राज्यों में 90 फीसदी तक हरी मिर्च का उत्पादन होता है जिनमें से उत्तर प्रदेश भी एक है। उत्तर प्रदेश में मिर्च उत्पादन के मामले में बाराबंकी पहले स्थान पर है, यहाँ पर लगभग 2000 एकड़ में मिर्च का उत्पादन किया जाता है। अकेले बाराबंकी में लगभग 50000 मीट्रिक टन मिर्च का उत्पादन किया जाता है।


बाराबंकी के जिला उद्यान अधिकारी महेश श्रीवास्तव गाँव कनेक्शन से बताते हैं, "हरी मिर्च का निर्यात होने से किसानों में इसका रुझान बढ़ा है, एक मोटा अनुमान ये बना की 2500 प्रति कुंतल उत्पादन में किसान को साल में करीबन सात से आठ लाख रुपए मिल जाते हैं; बाराबंकी के काफी प्रगतिशील किसान हैं जो मिर्च की खेती से कमाई कर रहे हैं।"

प्रगतिशील किसान वीरेंद्र मौर्य कहते हैं, "एक एकड़ में करीब करीब हम लोगों को 100 क्विंटल तक पैदावार मिल जाती है, लेकिन इसकी खेती में किसानों को शुरू से रखरखाव का ध्यान रखना होता है; पानी निकास की सही व्यवस्था करनी चाहिए, क्योंकि अगर बारिश हुई तो पानी भरने से फसल खराब हो जाती है।"

हरी मिर्च की खेती किसानों के लिए इसलिए भी फायदे का सौदा है, क्योंकि लंबे अंतराल तक इसका उत्पादन होता रहता है। बाराबंकी की मिर्च की माँग उत्तर प्रदेश के प्रमुख मंडियों सहित दक्षिण भारत में भी रहती है।

मिर्च व्यापारी नूर आलम यहाँ की मिर्च की खासियत बताते हैं, "यहाँ की मिर्च दो-चार दिनों तक खराब नहीं होती है, इसलिए यहाँ की मिर्च पसंद की जाती है; यहाँ की मिर्च दुबई और कतर तक जाती है।"

दुनियाभर में कई तरह की मिर्च उगाई जा रही है और माना जाता है कि करीब चार सौ तरह की मिर्च दुनियाभर में पाई जाती है, जो बताता है कि इसकी वैरायटी भी काफी ज्यादा है।

देश में मिर्च का कारोबार

भारत मिर्च पैदावार के मामले में काफी आगे और बड़ा निर्यातक है। हिंदुस्तान के बाद चीन, पेरू, थाईलैंड, पाकिस्तान मिर्च का उत्पादन करते हैं। अब भारत की ओर से अमेरिका, नेपाल, यूके, श्रीलंका और बांग्लादेश और अर्ब देशों में मिर्च भेजी जा रही है। भारत में हर साल करीब 13 लाख मेट्रिक टन का उत्पादन होता है।

chili farming #green chilli #BARABANKI #video 

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.