ट्रेंच विधि से गन्ने की ये वैरायटी बोने से हो सकता है बंपर उत्पादन , देखिए वीडियो

Arvind ShuklaArvind Shukla   3 April 2018 1:36 PM GMT

ट्रेंच विधि से गन्ने की ये वैरायटी बोने से हो सकता है बंपर उत्पादन , देखिए वीडियोलखनऊ महोत्सव में गन्ना विभाग के अधिकारी। 

लखनऊ। अगर आप इन दिनों उत्तर प्रदेश में हैं तो एक बार प्रदेश की राजधानी में चल रहे लखनऊ महोत्सव घूम आइए। इसमें एक तरफ जहां आप को प्रदेश के जिलों की हस्त शिल्पकला के बारे में जान सकेंगे और उनके उत्पाद मिल जाएंगे। वहीं दूसरी हर प्रदेश में चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी हो जाएगी।

लखनऊ में शहीदपथ पर अवध शिल्पग्राम में चल रहे यूपी दिवस और लखनऊ महोत्सव पर समारोहों और प्रदर्शनी में कृषि विभाग, ग्राम विकास, मंडी, मनरेगा, शिक्षा समेत कई विभागों ने स्टॉल लगाए हैं, जहां विभाग की उपलब्धियों और योजनाओं के बारे में जानकारी दी जा रही है।

ये भी पढ़ें- बरेली के इस किसान का गन्ना देखने पंजाब तक से आते हैं किसान

यहां पर गन्ना विभाग ने अपनी उपलब्धियों, नई योजनाओं और किसानों के उपयोगी वैरायटी और तकनीकी का प्रदर्शन किया है। किसानों के लिए क्या खास इस बार ये पूछने गन्ना शोध संस्थान, शाहजहांपुर के प्रसार अधिकारी डॉ. एस के पाठक ने किसानों को दो नई वैरायटी उगाने की सलाह दी। इसमें एक है कोसा 13231 और दूसरी 09232.. गन्ना किसानों को नई किस्मों के डॉ. पाठक ने कहा, ये किस्में 10 महीने में तैयार होती हैं और इनमें प्रति क्विंटल रिकवरी 11 किलो चीनी तक है, जिससे किसानों को गन्ने का अच्छा मूल्य मिलता है। उन्होंने किसानों को किसानों को ट्रेंच विधि से गन्ना बुवाई की सलाह भी दी। ज्यादा जानकारी के लिए वीडियो देखिए।

बेचना चाहते हैं गन्ने का बीज तो ये जान लें

भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ ने कहा है कि साल 2017 -18 के लिए गन्ने का बीज 360 रुपये प्रति क्विंटल बिकेगा और बीज का भुगतान अगोला व पत्ती का 12 फीसदी भार घटा कर लिया जाएगा। संस्थान के कहा कि गन्ना बीज की कटाई व लदाई का काम ठेकेदार कराएगा जिसके पैसे 70 से 75 रुपये प्रति क्विंटल के आधार पर बेचने वाले से लिए जाएंगे। इसके लिए बेचने वाले को एक दिन पहले ठेकेदार को सूचना देना ज़रूरी होगा। ठेकेदार का मोबाइल नंबर - 9335276036, 8173853602 है। बेचने वाला अगर चाहे तो अपने मज़दूर लाकर भी कटाई व लदाई करा सकता है। बीज को ले जाने के लिए गाड़ी की व्यवस्था भी बेचने वाले को खुद करनी होगी। ये जानना भी ज़रूरी है कि बीज का भुगतान कैशलेस ही किया जाएगा।

ये भी पढ़ें- भारत का गन्ना बदल रहा पाकिस्तानी किसानों की किस्मत

ये भी पढ़ें- यूपी के 600 गाँव देंगे उन्नत प्रजाति का गन्ना बीज  

ये भी पढ़ें- गन्ना ढुलाई भाड़े के नाम पर किसानों से धोखा  

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top