पाकिस्तान ने भारतीय कपास पर ‘अघोषित’ प्रतिबंध हटाया 

पाकिस्तान ने भारतीय कपास पर ‘अघोषित’ प्रतिबंध हटाया फोटो प्रतीकात्मक है।

लाहौर (भाषा)। आयातकों द्वारा भारत से कपास के आयात में क्वैरेंटाइन (पौध संगरोधी) नियमों का उल्लंघन करने का हवाला देते हुए 10,000 कपास गांठ की एक खेप नामंजूर करने के एक दिन बाद आज पाकिस्तान ने भारत से कपास के आयात पर ‘अघोषित' प्रतिबंध को समाप्त कर दिया।

डॉन अखबार की रपट के अनुसार पाकिस्तान के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा एवं अनुसंधान मंत्रालय के तहत आने वाले पौध संरक्षण विभाग (डीपीपी) ने वाघा सीमा और कराची बंदरगाह के माध्यम से भारत से आयातित कपास को 23 नवंबर को सीमा पर ही रोक दिया था।

विभाग के मुताबिक ये खेप पौध संगरोध एवं प्रमाणन (क्वेरेंटाइन) नियमों का उल्लंघन करके मंगाई गई थी। भारत के साथ तनाव के बीच पाकिस्तान ने वहां से आई 33 लाख डॉलर मूल्य की 10,000 कपास गांठ की एक खेप नामंजूर कर थी।

डीपीपी के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘डीपीपी ने वाघा सीमा के माध्यम से कपास आयात के लिए परमिट जारी करना शुरु कर दिया है लेकिन डीपीपी ने आयातकों को स्पष्ट किया है कि कपास की केवल उन्हीं खेपों को आने की मंजूरी दी जाएगी जिनमें बीज नहीं होंगे।'' उन्होंने कहा कि यदि हम इसका कड़ाई से अनुपालन करेंगे तो भारत क्या हम विश्व में कहीं से भी कपास आयात नहीं कर पाएंगे क्योंकि पूरी तरह कपास के बीजों से मुक्त खेप उपलब्ध ही नहीं होगी। पिछले साल पाकिस्तान ने 80 करोड़ डॉलर मूल्य का कपास आयात किया था जो भारत के कपास निर्यात का दो तिहाई हिस्सा है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top