लेयर फार्मिंग से रोज होगा एक करोड़ अंडे का उत्पादन

लेयर फार्मिंग से रोज होगा एक करोड़ अंडे का उत्पादनफोटो: विनय गुप्ता

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में प्रति व्यक्ति प्रति वर्ष 18 अण्डे और 300 ग्राम कुक्कुट मांस की जरूरत पड़ती है, लेकिन उपलब्ध मात्र सात अण्डे और 100 ग्राम मांस ही है। ऐसे में प्रदेश में रोजाना 35 लाख अण्डे और दो लाख कुक्कुट ब्रायलर दूसरे प्रदेशों से मंगाना पड़ता है।

ऐसे में प्रदेश सरकार एक ऐसी योजना पर काम कर रही है, जिसमें आने वाले दिनों में प्रतिदिन एक करोड़ अंडे का उत्पाद होगा। सरकार ने कुक्कुट उद्योग को बढ़ावा देने के लिए साल 2013 में उत्तर प्रदेश कुक्कुट विकास नीति बनाई थी। इस नीति में लोगों ने जबर्दस्त उत्साह दिखाया और प्रदेश में कुक्कुट पालन को बढ़ावा मिला। लेकिन सरकार चाहती है कि अधिक से अधिक संख्या में लोग इस नीति का लाभ उठाते हुए प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने में मदद करें। यह जानकारी देते हुए उत्तर प्रदेश कुक्कुट विकास विभाग के निदेशक डॉ. राजेश वाष्णेर्य ने बताया कि इस योजना को लाभ आम किसान से लेकर पुशपालक तक उठा सकते हैं।

कुक्कुट पालकों को दी जाएगी नि:शुल्क ट्रेनिंग

जो भी लोग इस योजना का लाभ लेने के लिए आगे आएंगे उन्हें विभाग की तरफ से कुक्कुट पालन का 30 दिन का प्रशिक्षण नि:शुल्क में दिया जाएगा। साथ ही उनको चूजे भी उपलब्ध कराएं जाएंगे। इसके अलावा मुफ्त में डाक्टरी सलाह सहित विभिन्न प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

सरकार दे रही 40 लाख रुपए का लोन

प्रदेश में कॉमर्शियल लेयर फार्मिंग और ब्रायलर इकाइयों की स्थापना के लिए प्रदेश सरकार 40 लाख रुपए का लोन दे रही है। इसके साथ ही स्टैम्प ड्यूटी से लेकर फ्री में बिजली और मण्डी पर टैक्स छूट भी दे रही है। इस योजना का लाभ उठाकर आम लोग एक या दो इकाई स्थापित कर सकते हैं। लेकिन इसकी शर्त है कि लेयर इकाई के लिए तीन एकड़ और ब्रायलर के लिए छह एकड़ जमीन होना जरूरी है। एक कामर्शियल लेयार इकाई से सालाना 32 लाख का लाभ कमाया जा सकता है। इस योजना के लिए जो लोन दिया जा रहा है उसे पांच साल में अदा करना होगा।

देवरिया के किसानों ने जगाई उम्मीद

लेयर फार्मिंग अंडा उत्पादन के क्षेत्र में देवरिया जिला रिकॉर्ड बनाता जा रहा है। जनपद में 95 लेयर फार्म खोलकर देवरिया के किसान रोज पांच से छह लाख अंडे का उत्पादन कर रहे हैं। अंडा उत्पादन के क्षेत्र में काम करने वाली कंपनियों के अनुसार यूपी में सर्वाधिक अंडे का उत्पादन देवरिया में हो रहा है। रुद्रपुर तहसील क्षेत्र में पांच लेयर फार्म खुल चुके हैं।

एक वर्ष में निकल जा रही पूरी लागत

कुस्महां गाँव के रहने वाले पेशे से अधिवक्ता और किसान सत्यप्रकाश सिंह ने अपने 10 एकड़ के खेत में लेयर फार्म खोला है। उन्होंने बताया कि अंडे का उत्पादन करने वाले किसान काफी खुशहाल हैं। 7,500 अंडों की क्षमता वाला लेयर फार्म लगाने में करीब 45 लाख का खर्च आ रहा है। एक वर्ष में पूरी लागत निकल जा रही है। लेयर फार्म लगाने के लिए बैंक से आसानी से ऋण मिल जाएगा। वह लेयर फार्म के साथ मछली पालन भी कर रहे हैं। लेयर फार्म से मछलियों को चारा और खेत के लिए मुर्गियों के बीट से बनी जैविक खाद मुनाफे में मिलती है। एक वर्ष में 7500 की क्षमता वाले लेयर फार्म से 70 ट्राली जैविक खाद निकलती है। मुर्गी के बीट से बनी खाद फसलों के लिए काफी फायदेमंद है। एक ट्राली खाद 1500 रुपये में बिकती है। जैविक खाद को खरीदने की होड़ लगी रहती।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top