मांग बढ़ने से बीते सप्ताह चावल बासमती, गेहूं कीमतों में तेजी जारी

मांग बढ़ने से बीते सप्ताह चावल बासमती, गेहूं कीमतों में तेजी जारीफोटो: अभिषेक वर्मा

नई दिल्ली। आपूर्ति रुकने के कारण सीमित स्टॉक रहने के मुकाबले बाजार में उठाव बढ़ने के कारण राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के थोक अनाज बाजार में लगातार दूसरे सप्ताह भी चावल, बासमती और गेहूं की कीमतों में तेजी आई।

हालांकि उपभोक्ता उद्योगों की कमजोर मांग के कारण मक्का और जौ की कीमतों में गिरावट आई। बाजार सूत्रों ने कहा कि उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति में गिरावट के कारण सीमित स्टॉक रहने के मुकाबले स्टॉकिस्टों और फुटकर कारोबारियों की मांग में आई तेजी के कारण मुख्यत: बासमती चावल की कीमतों में तेजी आई।

उन्होंने कहा कि आटा मिलों का उठाव बढ़ने के कारण भी गेहूं की कीमतों में तेजी को भी मदद मिली। दिल्ली में चावल बासमती पूसा-1121 किस्म की कीमत 200 रुपये की तेजी के साथ 7,000-7,100 रुपये प्रति कुंतल हो गई।

गैर-बासमती चावल परमल कच्चा, वैन्ड, सेला और आईआर-8 किस्मों की कीमतें तेजी के साथ क्रमश: 2,400 -2,425 रुपये, 2,500-2,550 रुपये, 3,100-3,200 रुपये और 2,050-2,100 रुपये प्रति कुंतल पर बंद हुई, जो पहले क्रमश: 2,325-2,375 रुपये, 2,375-2,425 रुपये, 3,000-3,100 रुपये और 1,975-2,025 रुपये प्रति कुंतल पर बंद हुई थीं।

गेहूं दड़ा (मिल के लिए) की कीमत भी 15 रुपये की तेजी के साथ 1,770-1,775 रुपये प्रति कुंतल पर बंद हुई। आटा चक्की डिलीवरी की कीमत भी समान अंतर की तेजी के साथ 1,780-1,785 रुपये प्रति 90 किलो बैग पर बंद हुई।

दूसरी ओर मक्का और जौ जैसे अन्य मोटे अनाज की कीमतें घटकर क्रमश: 1,450-1,455 रुपये और 1,475-1,485 रुपये प्रति कुंतल पहुंच गई, जो पिछले सप्ताहांत क्रमश: 1,500-1,505 रुपये और 1,490-1,500 रुपये प्रति कुंतल थी।

(एजेंसी)

यह भी पढ़ें: फल लगते समय आम की बागवानी की करें ऐसे देखभाल : देखिए वीडियो

सामान्य मानसून का असर अभी से, उर्वरकों की मांग स्थिर रहने की उम्मीद

ये शाक-सब्जियां बन सकती हैं पोषण व आमदनी का बेहतरीन जरिया

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top