मांग बढ़ने से चावल बासमती के दाम में और तेजी आयी

मांग बढ़ने से चावल बासमती के दाम में और तेजी आयीबासमती चावल। (फाइल फोटो)

नई दिल्ली (भाषा)। उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति घटने के कारण सीमित स्टॉक रहने के मुकाबले मांग बढने के कारण दिल्ली के थोक अनाज बाजार में चावल बासमती के दाम में 100 रुपए प्रति क्विन्टल की तेजी आई है। हालांकि मामूली कारोबार के बीच अनाज की कीमतों में स्थिरता रही। बाजार सूत्रों ने कहा कि धान मिलों के साथ साथ फुटकर विक्रेताओं की मांग बढने तथा उत्पादक क्षेत्रों से आवक घटने के कारण स्टॉक की कमी होने से मुख्यत: चावल बासमती की कीमतों में तेजी आई।

राष्ट्रीय राजधानी में चावल बासमती कॉमन और पूसा-1121 किस्म के दाम क्रमश: 100 - 100 रुपए की तेजी के साथ क्रमश: 7,900-8,000 रुपए और 6,500-6,600 रुपए प्रति क्विन्टल हो गये।

ये भी पढ़ें- पिछले तीन वर्षों में सबसे ज्यादा पहुंचा बासमती चावल का भाव, किसानों के चेहरे खिले

भारत बासमती चावल का सबसे बड़ा निर्यात

दुनिया के 70 प्रतिशत बासमती चावल की उपज भारत में ही होती है। भारत के बाद पाकिस्तान का नंबर आता है. भारत ही यूरोपीय संघ और शेष विश्व में बासमती चावल का सबसे बड़ा निर्यातक है। 2015-16 में भारत ने 22,727 करोड़ रुपए मूल्य के बराबर 40,05,000 टन बासमती चावल का निर्यात किया जिसमें से 1,930 करोड़ रुपए (तीन अरब डॉलर) मूल्य के बराबर 3,80,000 टन यूरोपीय संघ के देशों में गया।

ये भी पढ़ें- बासमती धान में भारत की बादशाहत खतरे में, चावल हो सकता है महंगा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top