पिता-पुत्र के दंगल में कूदे अमर सिंह, कहा- मैं मुलायम के साथ, सपाई भी दें साथ

पिता-पुत्र के दंगल में कूदे अमर सिंह, कहा- मैं मुलायम के साथ, सपाई भी दें साथअमर सिंह पर लगातार सपा में गंभीर आरोप रहे हैं।

लखनऊ (भाषा)। समाजवादी पार्टी के नेता अमर सिंह ने पार्टी में संकट को आज दुर्भाग्यपूर्ण बताया और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने वाली पारिवारिक कलह में पार्टी सदस्यों से मुलायम सिंह यादव का समर्थन करने का आग्रह किया।

लंबे समय तक पार्टी से बाहर रहने के बाद हाल में वापसी करने वाले अमर ने कहा, ‘‘मैं पार्टी सदस्यों से नेताजी के साथ खड़े होने की अपील करता हूं। जो कुछ हो रहा है, वह दुर्भाग्यपूर्ण है।'' SP सुप्रीमो मुलयाम सिंह द्वारा अपने बेटे अखिलेश यादव और महासचिव रामगोपाल यादव को पार्टी से छह साल के लिए निकालने के बाद पार्टी में संकट को लेकर अमर से सवाल किया गया था। अखिलेश और रामगोपाल को पार्टी से इसलिए निकाला गया क्योंकि उन्होंने पार्टी के औपचारिक उम्मीदवारों के खिलाफ अपने प्रत्याशियों की सूची जारी की और रविवार को पार्टी की एक बैठक बुलाई है।

अमर ने कहा, ‘‘पार्टी की नींव मुलायम सिंह ने बहुत निष्ठा और कडी मेहनत से डाली थी। मैंने यह पहले भी कहा है और अब भी कहूंगा कि मुलायम सिंह सपा के अध्यक्ष हैं, साथ ही में अखिलेश के पिता भी हैं।'' मुलायम ने कल कहा था कि उन्होंने पार्टी को बचाने के लिए अखिलेश और रामगोपाल के खिलाफ कार्रवाई की है। पार्टी को कड़े प्रयासों के जरिए खड़ा किया गया है।

उन्होंने कहा था, ‘‘हमें पार्टी बचानी है। पार्टी पहले है। इसलिए हम अखिलेश और रामगोपाल दोनों को निकाल रहे हैं।'' उन्होंने बताया कि यह फैसला इसलिए किया गया क्योंकि रामगोपाल ने महासचिव के रुप में अपनी शक्ति का इस्तेमाल करते हुए एक जनवरी को पार्टी की आपात बैठक बुलाने का फैसला किया और अखिलेश ने बैठक का समर्थन किया था।

Share it
Top