गुना-शिवपुरी से कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की हार

मध्यप्रदेश से सबसे ज्यादा अप्रत्याशित परिणाम सामने आ रहे हैं। गुना शिवपुरी से कांग्रेस के दिग्गज नेता और पार्टी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी के केपी यादव से हार गए है। गुना सीट ज्योतिरादित्य सिंधिया की गढ मानी जाती थी।

गुना-शिवपुरी से कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की हार

लखनऊ। मध्यप्रदेश से सबसे ज्यादा अप्रत्याशित परिणाम सामने आ रहे हैं। गुना शिवपुरी से कांग्रेस के दिग्गज नेता और पार्टी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी के केपी यादव से हार गए है। गुना सीट ज्योतिरादित्य सिंधिया की गढ मानी जाती थी। वहां से सिंधिया का हारना कांग्रेस के लिए सबसे बड़ा झटका माना जा रहा है।

घर का भेदी लंका ढाए

गुना से सिंधिया को हराने वाला कोई और नहीं उनका पूराना साथी है। मध्यप्रदेश के 2018 विधानसभा चुनावो से पहले केपी यादव कांग्रेस में थे और सिंधिया के संसद प्रतिनिधि भी रहे हैं। लेकिन 2018 विधानसभा चुनाव से पहले केपी यादव अचानक बीजेपी में शामिल हो गए थे। गुना- शिवपुरी में यादवों की अच्छी खासी संख्या है। यादवों के वोटों को साधने के लिए बीजेपी ने कभी सिंधिया के वफादार रहे केपी यादव को मैदान में उतारा था।

सिंधिया राजपरिवार के पहले सदस्य को मिली हार

ज्योतिरादित्य सिंधिया राजपरिवार के पहले सदस्य़ हैं जिन्हें किसी भी चुनाव में हार मिली। इससे पहले राजमाता सिंधिया और माधवराव सिंधिया भी चुनावों में खड़े हुए थें, लेकिन उनमें से किसी को भी कभी हार का सामना नहीं करना पड़ा था। इससे पहले सिंधिया पिछली बार मोदी लहर में अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे थे। लेकिन विधानसभा चुनाव में गुना शिवपुरी से कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बाद ही अंदेशा जताया जा रहा था कि गुना में उनकी पकड़ कमजोर हो रही है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top