सोनिया बीमार, राहुल संभाल सकते हैं कांग्रेस की कमान

सोनिया बीमार, राहुल संभाल सकते हैं कांग्रेस की कमानसोनिया गांधी पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ हैं।

नई दिल्ली (भाषा)। राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया जाना लगभग तय है। कांग्रेस कार्य समिति से उन्हें पदोन्नत करने के लिए सर्वसम्मत आवाज में पुरजोर ढंग से यह भावना व्यक्त की। कांग्रेस के इस सर्वोच्च निर्णय करने वाले निकाय की बैठक में सोनिया गांधी मौजूद नहीं थी।

एंटनी ने उठाया नाम

बैठक के दौरान प्रथम वक्ता के रूप में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एके एंटनी ने राहुल गांधी द्वारा पार्टी का नेतृत्व संभालने की जरूरत को रेखांकित किया। एंटनी के सुझाव का पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत सीडब्ल्यूसी की बैठक में हिस्सा लेने वाले अन्य सभी सदस्यों ने समर्थन किया। चार घंटे तक चली इस बैठक में सदस्यों ने राहुल गांधी से 130 वर्ष पुरानी पार्टी की बागडोर संभालने की जरूरत बतायी। पार्टी की कमान अभी सोनिया गांधी संभाल रही हैं।

एंटनी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सदस्यों ने कांग्रेस के करोड़ों कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों की इच्छा को स्वीकार करने की सर्वसम्मत एवं मजबूत भावना व्यक्त की जिनकी इच्छा है कि राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष का पद ग्रहण करें।''

उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह समेत सभी सदस्यों ने इस बात पर जोर दिया कि वक्त आ गया है कि राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष का पदभार ग्रहण करें और कांग्रेस मोदी सरकार की ‘जनविरोधी और तानाशाही' नीतियों पर सभी ताकतों को एकजुट करे।

राहुल ने की अध्यक्षता

सीडब्ल्यूसी की बैठक की अध्यक्षता आज राहुल गांधी ने की। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी आज की बैठक में हिस्सा नहीं ले सकीं क्योंकि उनके बारे में कहा गया है कि वे अस्वस्थ हैं। राहुल गांधी ने कहा कि देश के लिए संघर्ष करने के संदर्भ में कांग्रेस अध्यक्ष और सीडब्ल्यूसी उन्हें जो भी जिम्मेदारी सौंपते हैं, उसे वे पूरी तरह से स्वीकार करने को तैयार है। 46 वर्षीय राहुल गांधी जयपुर में कांग्रेस सत्र के दौरान जनवरी 2013 में पार्टी उपाध्याक्ष नियुक्त किये गए थे। उनकी पदोन्नति के बारे में पिछले कुछ समय से कयास लगाये जा रहे हैं।

Share it
Top