कर्नाटक में सियासी संग्राम जारी, सिद्धारमैया बोले सोमवार तक टल सकता है फ्लोर टेस्ट

कर्नाटक में सियासी संग्राम जारी, सिद्धारमैया बोले सोमवार तक टल सकता है फ्लोर टेस्टkarnatakaa vidhansabha

लखनऊ। कर्नाटक का सियासी संग्राम आज भी जारी रहने की संभावना है। गुरूवार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होना था लेकिन भारी हंगामे के बीच स्पीकर को सदन स्थगित करना पड़ा। गुरूवार को शुरू हुई विश्वास मत पर बहस शुक्रवार को भी जारी रहने की संभावना है। फ्लोर टेस्ट न होने की विरोध में बीजेपी विधायक रात भर सदन में ही धरने पर बैठे रहे।इधर बीजेपी विधायकों का राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग के बाद राज्यपाल वजुभाई वाला ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को दोपहर डेढ़ बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था। राज्यपाल वजुबाला ने मामले में एक बार फिर से हस्तक्षेप करते हुए स्पीकर को शाम 6 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था।

कुमारस्वामी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने शुक्रवार को विधानसभा में विश्वास मत के लिए राज्यपाल वजुभाई वाला की ओर से समयसीमा तय किये जाने के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख किया है। कुमारस्वामी ने कहा कि सदन की कार्यवाही को लेकर राज्यपाल विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश को कोई आदेश नहीं दे सकते। कुमारस्वामी ने फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए राज्यपाल की ओर से एक के बाद एक निर्धारित की गई समय सीमा पर सवाल उठाया। इसके अलावा मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने शीर्ष अदालत से 17 जुलाई के उस आदेश पर स्पष्टीकरण की मांग की है। जिसमें यह कहा गया था कि 15 बागी विधायकों को विधानसभा की कार्यवाही में भाग लेने के लिए बाध्य नहीं किया जाए।

इस बीच विधानसभा में फ्लोर टेस्ट को लेकर कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने बयान दिया है कि सदन में अभी और लोगों को भी अपनी बात रखनी है। उन्होंने कहा कि अभी तकरीबन 20 और लोगों का विश्वास मत को लेकर बोलना है। ऐसे में विधानसभा में बहस जारी रहेगी और इस स्थिति में फ्लोर टेस्ट सोमवार तक टल सकता है।

कांग्रेस ने राज्यपाल पर लगाए गंभीर आरोप

वही कांग्रेस की तरफ से राज्यपाल वजुभाई वाला पर गंभीर आरोप लगाए गए है। कांग्रेस नेता दिनेश गुंडू राव ने ट्वीट कर कहा कि राज्यपाल ने बीएस येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया था ताकि विधायकों की खरीद फरोख्त की जा सके।राज्यपाल का हमें फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश देना असंवैधानिक है।

उधर बेंगलुरु पुलिस भी मुंबई के अस्पताल में भर्ती कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल से मिलने पहुंच चुकी है। विधानसभा स्पीकर के चिंता जाहिर करने के बाद बेंगलुरु पुलिस मुंबई के अस्पताल पहुंची हैं।

सदन में बोले कुमारस्वामी

सदन में विश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान कुमारस्वामी ने कहा कि जब से कांग्रेस-जद(एस) सरकार बनी तभी से बीजेपी उसे गिराना चाहती है। उन्होंने कहा बीजेपी विश्वास मत पर बहस नहीं चाहती लेकिन किसी तरह जोड़ तोड़ कर सरकार बनाना चाहती है। कुमारस्वामी ने अपने भाषण में कहा कि 2009 में येदियुरप्पा के सामने भी यही स्थिति थी। उस समय येदियुरप्पा ने बीजेपी के सामने हाथ जोड़े थे कि उन्हें सीएम पद से ना हटाया जाए। मैं सीएम पद छोड़ दूंगा लेकिन किसी के आगे हाथ नहीं जोड़ने नहीं जाऊंगा।

विधानसभा में बहस के दौरान मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने बीजेपी से कहा कि मैं भी देखता हूं कि इस तरह बीजेपी कितने दिनों तक सत्ता में रह पाएगी। वहीं दूसरी तरफ विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि लोग मेरे बारे में तमाम गलत बातें कह रहे। मेरे घर पर कोई सुरक्षा नहीं है। ईमानदार लोगों को परेशान किया जा रहा है। इस दौरान कुमारस्वामी ने सदन में बीजेपी पर आरोप लगाया कि बीजेपी उनके विधायकों के खरीद फरोख्त की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उनके विधायकों को 40- 50 करोड़ रूपये देने का लालच दिया है।





More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top