कर्नाटक में खत्म होगा सियासी संग्राम, फ्लोर टेस्ट आज

कर्नाटक में खत्म होगा सियासी संग्राम, फ्लोर टेस्ट आज

लखनऊ। कर्नाटक का सियासी संग्राम सोमवार को भी जारी है। विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार के बयान के अनुसार कर्नाटक में जारी सियासी हंगामा सोमवार को खत्म हो सकता है। स्पीकर रमेश कुमार ने बयान दिया है कि सदन में फ्लोर टेस्ट आज ही होगा और इसके लिए सारी प्रकिया पूरी कर ली गई है।

सदन में विश्वास मत के लिए विधायकों का सदन पहुंचना भी शुरू हो गया है। तस्वीरों में सारे विधायक एक साथ बस में बैठकर सदन जाते हुए भी दिखाई दिए। वहीं कर्नाटक के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया है।सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि इस मामले पर आज सुनवाई नहीं हो सकती है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट में मुकुल रहतोगी ने सोमवार को ही फ्लोर टेस्ट कराने की याचिका पर निर्दलीय विधायकों की ओर से अपना पक्ष रखने की अपील की थी।

इससे पहले दो बार टल चुकी है फ्लोर टेस्ट

इससे पहले विधानसभा में राज्यपाल की ओर से फ्लोर टेस्ट कराने की डेडलाइन दो बार टल चुकी है। वहीं कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन का कहना है कि जब तक सदन में सभी लोग बोल नहीं लेते तब तक विश्वास मत पर वोटिंग नहीं कराया जा सकता। राज्यपाल का मुख्यमंत्री को जल्दी चुनाव कराने का आदेश देना असंवैधानिक है। एचडी कुमारस्वामी को राज्यपाल की ओर से दो बार चिट्ठी लिखने और डेडलाइन देने के बाद भी मतदान नहीं हुआ।

कुमारस्वामी अपनी सरकार बचाने की भरपूर कोशिश कर रहे हैं। इसी कवायद में उन्होंने रविवार को बागी विधायक आनंद सिंह से फोन पर बात की और उन्हें मनाने की कोशिश की। इन सब सियासी घटनाक्रमों के बीच एक नया सियासी घटनाक्रम भी निकल कर सामने आया है। कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा है कि जद(एस) सरकार बचाने के लिए अपनी तरफ से कुछ भी करने को तैयार है। वह सरकार बचाने के लिए कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री बनाने को भी तैयार है। डीके शिवकुमार का विश्वास मत से पहले यह बयान सरकार बचाने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है।

एक तरफ जहां विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होना है वहीं दूसरी बागी विधायकों के अयोग्यता वाले मामले में स्पीकर ने उन्हे पेश होने के चिट्ठी भेजी है। स्पीकर ने 11 बागी विधायकों को मंगलवार सुबह 11 बजे तक सदन में पेश होने के लिए कहा है।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top