आजादी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष बने नेताओं पर एक नज़र

आजादी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष बने नेताओं पर एक नज़रआजादी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष बने नेताओं पर एक नज़र

करीब सवा सौ साल पुरानी कांग्रेस पार्टी में भले ही सोनिया गांधी सबसे अधिक समय तक अध्यक्ष पद पर आसीन रही हों, लेकिन आजादी के बाद पार्टी का नेतृत्व करने वाले कुल 18 नेताओं में से 14 नेहरु-गांधी परिवार से नहीं हैं। राहुल गांधी नेहरु-गांधी परिवार की पांचवीं पीढ़ी के पांचवें ऐसे व्यक्ति हैं जो कांग्रेस अध्यक्ष हैं।

आजादी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद पर नजर डाले तो जवाहरलाल नेहरु ने प्रधानमंत्री रहते समय पांच वर्ष, इंदिरा गांधी भी करीब पांच वर्ष, राजीव गांधी भी करीब पांच वर्ष तथा पीवी नरसिंह राव ने भी करीब चार वर्ष तक इस जिम्मेदारी को संभाला। कांग्रेस में लालबहादुर शास्त्री एवं मनमोहन सिंह दो ऐसे नेता हैं जो प्रधानमंत्री तो बने किन्तु वे पार्टी के अध्यक्ष नहीं बन पाये।

ये भी पढ़ें - मोदी ने बोला राहुल पर हमला कहा- राहुल को नहीं है खेती की जानकारी

आजादी के बाद सोनिया जहां 19 वर्ष तक कांग्रेस अध्यक्ष पद पर रहीं, वहीं इस मामले में दूसरे स्थान पर उनकी सास इंदिरा गांधी रहीं जिन्होंने अलग-अलग बार कुल सात साल तक इस दायित्व को निभाया।

ये भी पढ़ें - राहुल गांधी बने कांग्रेस के निर्विरोध अध्यक्ष

भारत की स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद पर आसीन रह चुके नेताओं के नाम वर्षवार इस प्रकार हैं :

1. आचार्य कृपलानी (1947-1948)

2. पट्टाभि सीतारमैया (1948-1950)

3. पुरषोत्तम दास टंडन (1950-1951)

4. जवाहरलाल नेहरु (1951-1955)

5. यू. एन. धेबर (1955-1959)

6. इंदिरा गांधी (1959-1960 तथा 1978-84)

7. नीलम संजीव रेड्डी (1960-1964)

8. के. कामराज (1964-1968)

9. एस. निजलिंगप्पा (1968-1969)

10. पी. मेहुल (1969-1970)

11. जगजीवन राम (1970-1972)

12. शंकर दयाल शर्मा (1972-1974)

13. देवकांत बरआ (1975-1977)

14. राजीव गांधी (1985-1991)

15. कमलापति त्रिपाठी (1991-1992)

16. पी. वी. नरसिंह राव (1992-1996)

17. सीताराम केसरी (1996-1998)

18. सोनिया गांधी (1998-2017)


Share it
Top