प्यारे मोदी भक्तों स्मार्ट सिटी के लिए सिर्फ 7 फीसदी खर्च किया सरकार ने : राहुल गांधी 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   31 Dec 2017 1:04 PM GMT

प्यारे मोदी भक्तों स्मार्ट सिटी के लिए सिर्फ 7 फीसदी खर्च किया सरकार ने : राहुल गांधी राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

नई दिल्ली (आईएएनएस)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर खोखले नारे देने को लेकर हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने स्मार्ट सिटी योजना के लिए आवंटित 9,860 करोड़ रुपए का सिर्फ 7 फीसदी इस्तेमाल किया है।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "प्यारे मोदी भक्तों स्मार्ट सिटी के लिए 9,860 करोड़ रुपए में से सिर्फ 7 फीसदी का इस्तेमाल किया गया है। चीन हमसे प्रतिस्पर्धा कर रहा है जबकि आपके मालिक हमें खोखले नारे दे रहे हैं। कृपया यह वीडियो देखिए और उन्हें प्रमुख मुद्दे-'भारत के लिए रोजगार सृजन' पर ध्यान देने की सलाह दें।"

उन्होंने एक डॉक्यूमेंट्री 'शेन्झेन : द सिलीकान वैली ऑफ हार्डवेयर' का लिंक भी संलग्न किया।

कांग्रेस नेता की यह टिप्पणी सरकार के उस आंकड़े के सामने आने के बाद आई है, जिसके अनुसार उसकी महत्वाकांक्षी परियोजना स्मार्ट सिटी योजना के लिए आवंटित राशि का बेहद कम इस्तेमाल किया गया है।

राजनीति से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

स्मार्ट सिटी मिशन में 9860 करोड़ रुपए का महज सात प्रतिशत व्यय हुआ

आवास व शहरी मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, अब तक स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत 60 शहरों के लिए आवंटित किए गए 9,860 करोड़ रुपए में से सिर्फ सात फीसदी यानी 645 करोड़ रुपए का ही इस्तेमाल किया गया है।

अधिकतम 80.15 करोड़ रुपए अहमदाबाद ने खर्च किए

करीब 40 शहरों में से प्रत्येक को 196 करोड़ रुपए जारी किए गए जिसमें से अधिकतम 80.15 करोड़ रुपए अहमदाबाद ने खर्च किए। इसके बाद इंदौर (70.69 करोड़ रुपए), सूरत (43.41 करोड़ रुपए) और भोपाल (42.86 करोड़ रुपए) रहे। आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों से यह बात सामने आई है।

आंकड़ों से खुलासा हुआ कि स्वीकृत धन में अंडमान एवं निकोबार ने महज 54 लाख रुपए, रांची ने 35 लाख रुपए और औरंगाबाद ने 85 लाख रुपए ही खर्च किए। मंत्रालय के एक अधिकारी ने कुछ शहरों में परियोजनाओं की असंतोषजनक प्रगति पर चिंता जताई है।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top