शहडोल लोकसभा सीट पर 41 प्रतिशत मतदान, नेपानगर विधानसभा सीट पर 53.28 प्रतिशत 

शहडोल लोकसभा सीट पर 41 प्रतिशत मतदान, नेपानगर विधानसभा सीट पर 53.28 प्रतिशत मध्यप्रदेश की यह दोनों सीटें अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित हैं।

भोपाल (भाषा)। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच हो रहे उपचुनाव में शनिवार दोपहर एक बजे तक शहडोल लोकसभा सीट पर 41 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया, जबकि नेपानगर विधानसभा सीट पर 53.28 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

केंद्र सरकार के नोटबंदी के निर्णय के बाद हो रहे इस उपचुनाव को अहम माना जा रहा है और इसे नोटबंदी के बाद सत्तारुढ़ BJP के लिये पहली बड़ी चुनावी परीक्षा के रुप में देखा जा रहा है। मध्यप्रदेश की यह दोनों सीटें अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित हैं।

मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह ने बताया कि दोपहर एक बजे तक शहडोल लोकसभा सीट पर तकरीबन 41 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया, जबकि नेपानगर विधानसभा सीट के लिए 53.28 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि दोनों सीटों पर मतदान शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा है। प्रारंभ में विकास के अभाव में शहडोल लोकसभा सीट की पांच मतदान केंद्रों पर मतदाताओं द्वारा उपचुनाव का बहिष्कार किया गया था, लेकिन बाद में जब संबंधित अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाईश दी तो वे मदतान प्रक्रिया में भाग लेने के लिए सहमत हो गये।

शहडोल लोकसभा सीट पर 17 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि नेपानगर विधानभा सीट से केवल चार उम्मीदवार ही अपना भाग्य अजमा रहे हैं। शहडोल सीट में 16,00,787 मतदाता और नेपानगर सीट में 2,30,420 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकते हैं।

कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री दलबीर सिंह और शहडोल लोकसभा क्षेत्र से पूर्व सांसद राजेश नंदिनी सिंह की बेटी हिमाद्री सिंह को उम्मीदवार बनाया है, तो BJP ने प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और आदिवासी नेता ज्ञान सिंह को इस सीट पर मैदान में उतारा है। वहीं, नेपानगर विधानसभा क्षेत्र के लिये कांग्रेस ने क्षेत्र के आदिवासी नेता अंतर सिंह बद्रे को अपना उम्मीदवार बनाया है, जबकि BJP ने इस क्षेत्र से विधायक रहे दिवंगत राजेन्द्र श्यामलाल दादू की बेटी मंजू दादू को अपना प्रत्यशी बनाकर क्षेत्र के मतदाताओं की सहानभूति हासिल करने की कोशिश की है।

BJP सांसद दलपत सिंह परस्ते के निधन के कारण शहडोल लोकसभा क्षेत्र में उप चुनाव हो रहा है, जबकि नेपानगर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव यहां से BJP विधायक राजेन्द्र श्यामलाल दादू की सड़क हादसे में निधन होने के कारण हो रहा है। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में शहडोल से BJP सांसद परस्ते ने कांग्रेस की राजेश नंदिनी को 2.14 लाख मतों के अंतर से पराजित किया था। यहां से वर्तमान BJP प्रत्याशी ज्ञान सिंह इस सीट से वर्ष 1996 और वर्ष 1998 में दो बार विजयी हो चुके हैं।

शहडोल ससंदीय क्षेत्र में 2,070 मतदान केंद्र हैं, जबकि नेपानगर विधानसभा क्षेत्र के 296 मतदान केंद्र हैं। इन केंद्रों पर 4,000 से अधिक ईव्हीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) स्थापित किए गये हैं, जिनके जरिये मतदाता अपनी पसंद के उम्मीदवार का चुनाव कर रहे हैं। ईव्हीएम पर प्रत्याशियों के फोटो भी लगाये गये हैं। मतों की गणना 22 नवंबर को होगी और 24 नवंबर तक उपचुनाव की प्रक्रिया पूरी हो जायेगी।

Share it
Top