सहारा, बिड़ला रिश्वत मामले में मोदी की जांच हो : राहुल

सहारा, बिड़ला रिश्वत मामले में मोदी की जांच हो : राहुलराहुल गांधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष

नई दिल्ली (आईएएनएस)। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कॉरपोरेट घरानों से रिश्वत लेने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगे आरोप की जांच की मांग दोहराई। बताया जाता है कि मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उस दौरान उन्होंने बिड़ला समूह और सहारा से रिश्वत ली थी।

राहुल गांधी बार-बार कहते रहे हैं कि कॉरपोरेट घरानों द्वारा जिन लोगों को कथित रूप से रिश्वत दी गई थी, उस सूची में मोदी का नाम भी शामिल है। साल 2014 में आयकर विभाग ने बिड़ला और सहारा के कार्यालयों पर छापेमार कर कुछ दस्तावेज जब्त किए थे। दस्तावेज में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित समेत अन्य राजनीतिक नेताओं के नाम शामिल हैं।

विपक्षी पार्टियों के एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में गांधी ने कहा, "प्रधानमंत्री देश को कह रहे हैं कि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं, लेकिन जब आरोप उनके खिलाफ लगता है तो जवाब नहीं देते।"

संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल, द्रमुक और झारखंड मुक्ति मोर्चा जैसी अन्य पार्टियों ने भी भाग लिया। कांग्रेस नेता ने कहा कि हालांकि मोदी सभी अन्य मुद्दों पर जवाब देते हैं, लेकिन जब उनकी खुद की ईमानदारी पर सवाल उठने लगते हैं तो वह चुप्पी साध लेते हैं।

राहुल ने कहा कि जब दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित खुद पर लगे आरोपों की जांच के लिए तैयार हैं, तब प्रधानमंत्री जांच से दूर क्यों भाग रहे हैं?" उन्होंने कहा कि जब जैन हवाला डायरी मामला सामने आया था, तब उसमें नाम आने के कारण कांग्रेस के चार मंत्रियों ने इस्तीफा दिया था। राहुल ने कहा, "प्रधानमंत्री को खुद कहना चाहिए कि अगर मैं (मोदी) आरोप का सामना कर रहा हूं, तब जांच होनी ही चाहिए।"

Share it
Top