Top

बच्चा चोरी के अफवाह में उत्तर प्रदेश में 20 मॉब लिंचिंग की घटनाएं

बच्चा चोरी के अफवाह में उत्तर प्रदेश में 20 मॉब लिंचिंग की घटनाएं

लखनऊ। पूरे देश से लिंचिंग की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। उत्तर प्रदेश में ही पिछले 72 घंटो के अंदर 20 लिंचिंग की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। इससे पहले बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश से भी ऐसी कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं, जिसमें अफवाहों के आधार पर भीड़ नें लोगों कि पिटाई कर दी।

मेरठ में भीड़ की तरफ से बच्चा चोरी के अफवाह में एक आदमी की पिटाई कर दी गई। मेरठ और सहारनपुर रेंज के अफसरों ने बेगुनाह लोगों को पीटने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश भी दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आठ लोगों को गिरफ्तार भी किया है। इसके अलावा करीब 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से भी लिंचिंग की एक घटना सामने आई है। यहां अपने अपने पोते के साथ शॉपिंग करने आई एक महिला की बच्चा चोर बताकर उसकी जमकर पिटाई की गई। कुछ युवकों ने महिला को देखकर बच्चा चोर बताया और देखते ही देखते लोगों की भीड़ ने उसे घेर लिया। महिला से कुछ पूछे बगैर ही लोगों ने उसे पीटना शुरू कर दिया। ठीक ऐसे ही आरोप में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति को भी पीटा गया।

गुजरात के सूरत से रस्सियां बेचने आई पांच महिलाओं को शामली में बच्चा चोरी के अफवाह में पीटा गया। पीड़ित महिलाओं ने कहा कि वे सूरत, गुजरात से हैं, और कहा कि उनके खुद के बच्चे हैं, वह किसी और के साथ ऐसा कर ही नहीं सकती। एसपी अजय कुमार पांडे ने एएनआई को बताया ये महिलाएं रस्सी और खिलौने बेचने आई थीं। लोगों ने उन पर बच्चे को चुराने का झूठा आरोप लगाया और उनकी पिटाई की। हमने वीडियो और महिलाओं की दी गई जानकारी के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया की मामले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

कानपुर में भी ऐसे ही आरोप में दो बुजुर्गों की पिटाई की गई। भीड़ ने बच्चा चोरी के आरोप में घेर लिया और उनके आधार कार्ड भी देखे। कानपुर का होने का सबूत देने के बाद भी उनेक साथ जमकर मारपीट की गई

उत्तरप्रदेश के एटा में भी एक ऐसी घटना घटी है। अधेड़ उम्र की एक महिला को बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने पीट दिया और वीडियो भी वायरल किया। वीडियो में महिला खुद को बेगुनाह बताती रही लेकिन उसके बावजूद भीड़ उसे पीटती रही और सिर मुंड़वाने की कोशिश की

बरेली में भी एक मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति को इसलिए पीटा गया क्योंकि उसने एक बच्चे के हाथ से दस रूपये का नोट छीन लिया। इसके बाद भीड़ ने बच्चा चोर बताते हुए उसे पीट दिया

देश के कई राज्यों से इस तरह की घटनाएं सामने आई।

झारखंड के गिरिडीह में एक बैंक के बाहर बच्चे को रोते देख उसके साथ खेल रही महिला को भी भीड़ ने बच्चा के अफवाह में पिटाई कर दी। मामले की जांच के बाद गलतफहमी की बात सामने आई है। पुलिस के अनुसार एक महिला अपने बेटे को अपनी 8 साल की बेटी के साथ एक बैंक के बाहर छोड़कर कैश निकालने के लिए बैंक के अंदर गई तो वहां एक बच्चे को रोते हुए देखा और उसके साथ खेलने लगी। बच्चे की मां ने जब यह देखा, तो उसने महिला पर बच्चा शोर मचाना शुरू कर दिया। जिसके बाद भीड़ ने महिला की पिटाई कर दी।

बिहार के गया जिले में तीन लोगों को बच्चा अपहरण के आरोप में पीटा गया। बिहार के गया जिले में तीन लोगों को बच्चे को किडनैप करने के आरोप में भीड़ ने पीटा. तनकुप्पा थाना के एसएचओ विकास चंद्र ने पीटीआई से कहा कि तीनों लोग गया शहर के रहने वाले हैं। भीड़ की ओर से ज्यादती करने के दौरान घबराहट में उनसे गोली चल गई।

इससे पहले 9 अगस्त को पटना में ऐसी ही एक घटना में भीड़ के पीटे जाने से एक व्यक्ति की मौके पर मौत हो गई थी। उस समय वहां पुलिस ने 22 लोगों गिरफ्तार किया था। उस मामले में अभी भी बिहार पुलिस की जांच जारी है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.