बिहार में बाढ़ः 13 जिलों के 85.60 लाख लोग प्रभावित, अब तक 127 की मौत

पीएम नरेंद्र मोदी ने सीएम नीतीश कुमार को फोन कर लिया स्थिति का जायजा

बिहार में बाढ़ः 13 जिलों के 85.60 लाख लोग प्रभावित, अब तक 127 की मौत

बिहार में बाढ़ से स्थिति गंभीर बनी हुई है। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक बाढ़ से अब तक 85.60 लाख लोग प्रभावित हुए हैं, जबकि 127 लोगों की मौत हो गई है। सबसे ज्यादा 37 लोगों की मौत सीतामढ़ी में हई है। वहीं, मधुबनी में 30, अररिया में 12, दरभंगा में 12, शिवहर में 10, पूर्णियां में नौ, किशनगंज में सात,मुजफ्फरपुर में चार, सुपौल में तीन, पूर्वी चंपारण में दो और सहरसा में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

बिहार राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने बताया कि राज्य में 13 जिलों की 1,269 पंचायतों के 111 प्रखंडों में 88.46 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। राज्य के जल संसाधन विभाग के मुताबिक, पांच नदियां - बागमती, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, अधवारा और खिरोई नदी राज्य में नौ स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 24 घंटों में भी राज्य में सामान्य बारिश होगी।


पीएम नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फोन कर लिया स्थिति का जायजा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फोन पर बात कर स्थिति का जायज़ा लिया। पीएम मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ-साथ उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी से बात की। उन्होंने ट्वीट किया, "केंद्र सरकार प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए राज्य सरकार के साथ मिलकर काम कर रही है। हम हर संभव जरूरी सहायता देना जारी रखेंगे।"

एनडीआरएफ ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्र से बच्चे को बचाया

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के बचाव दल ने बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के एक गांव में रात भर अभियान चलाकर तीन वर्षीय बच्चे को बचा लिया। इस बच्चे को सांप ने डस लिया था। एनडीआरएफ की नौवीं बटालियन ने एक बयान में सोमवार को बताया कि सफातुल्ला के बेटे फरान को 28-29 जुलाई की रात रेस्क्यू अभियान कर बचाया गया और उन्हें सदर अस्पताल मोतिहारी ले जाया गया। अस्पताल में बच्चे की हालत स्थिर बनी हुई है।

एनडीआरएफ के कमांडेंट विजय सिन्हा ने बताया कि इस साल बचावकर्मियों ने बाढ़ प्रभावित इलाके से चार ऐसे लोगों को सुरक्षित निकाला, जिन्हें सांप ने डस लिया गया। इस तरह के दो मामले पूर्वी चंपारण जिले में हुए, जबकि एक-एक घटना अररिया और मधुबनी जिले में हुई थी।

असम में बाढ़ से चार और लोगों की मौत, मृतकों की संख्या 86 पहुंची

असम में सोमवार को बाढ़ से चार और लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में बाढ़ से मरने वालों का आंकड़ा 86 पहुंच गया है। बाड़पेटा जिले में दो लोगों की मौत हुई जबकि कोकराझार और धुबरी में एक-एक व्यक्तियों की मौत हुई।

असम राज्य आपदा प्रबंधन अधिकरण (एएसडीएमए) ने बताया कि वैसे तो रविवार से अब तक प्रभावित 17 जिलों में पानी घटा है और जलस्तर में सुधार हुआ है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार धेमाजी, सोनितपुर, दर्रांग, बक्सा, नलबाड़ी, चिरांग, बोंगाईगांव, कोकराझार, धुबरी, ग्वालपाड़ा, कामरूप, कामरूप (एम), मोरीगांव, नगांव, गोलाघाट, जोरहाट और कछार बाढ़ प्रभावित जिले हैं।

एएसडीएमए के मुताबिक 17 जिलों के 1,348 गांव अभी भी पानी में डूबे हुए हैं। राज्य के 522 राहत शिविरों में 50,470 लोग रह रहे हैं जबकि 28 राहत वितरण केंद्र राज्य में चल रहे हैं।


(भाषा से इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें- बिहार बाढ़: बाढ़ पीड़ितों की मदद करने वाले पीली टी-शर्ट पहने ये लड़के कौन हैं ?


बिहार बाढ़ ग्राउंड रिपोर्ट: 'साहब लोग बिस्किट और माचिस दे गए थे, खाने का तीन दिन से इंतजार है'


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top