NIRF Ranking 2020: देश के शीर्ष 10 उच्च शिक्षण संस्थानों में सिर्फ तीन विश्वविद्यालय, टॉप 10 में IITs का दबदबा

एनआईआरएफ रैंकिंग हर साल मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) द्वार जारी की जाती है, जिसमें देश के शीर्ष विश्वविद्यालयों, इंजीनियरिंग कॉलेजों, मेडिकल कॉलेजों, मैनेजमेंट और फार्मेसी संस्थानों के उनके परफॉर्मेंस के आधार पर रैंकिंग तय होता है।

Daya SagarDaya Sagar   12 Jun 2020 5:52 AM GMT

NIRF Ranking 2020: देश के शीर्ष 10 उच्च शिक्षण संस्थानों में सिर्फ तीन विश्वविद्यालय, टॉप 10 में IITs का दबदबा

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) ने गुरूवार को देश के शीर्ष उच्च शिक्षण संस्थानों की सूची जारी की। टॉप 10 की सूची में सिर्फ तीन विश्वविद्यालय भारतीय विज्ञान संस्थान-आईआईएससी, बेंगलुरू (दूसरा स्थान), जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय-जेएनयू (8वां स्थान) और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय-बीएचयू (10वां स्थान) ही जगह बना पाए। बाकी 7 स्थानों पर आईआईटी संस्थानों का कब्जा रहा।

100 में से 85.31 अंक पाकर आईआईटी मद्रास ने इस सूची को टॉप किया है। वहीं 84.18 अंको के साथ भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरू (आईआईएससी) दूसरे, 81.33 अंकों के साथ आईआईटी दिल्ली तीसरे, 80.75 अंकों के साथ आईआईटी मुंबई चौथे, 75.85 अंकों के साथ आईआईटी खड्गपुर पांचवें, 74.99 अंकों के साथ आईआईटी कानपुर छठे, 68.81 अंकों के साथ आईआईटी गुवाहाटी सातवें और 68.48 अंकों के साथ आईआईटी रूड़की नौवें स्थान पर रहा। जेएनयू को 68.76 और बीएचयू को 62.03 अंक मिलें।

नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) ने ये अंक विभिन्न मानकों के आधार पर निर्धारित किए हैं, जिसमें शिक्षण, अधिगम, संसाधन (टीचिंग, लर्निंग एंड रिसोर्सेज-टीएलआर), शोध और पेशेवर अभ्यास (रिसर्च एंड प्रोफेशनल प्रैक्टिस), स्नातक परिणाम (ग्रेजुएशन आउटकम), पहुंच और विशिष्टता (आउटरीच एंड इंक्ल्यूसिविटी) और लोगों की संस्थान के बारे में सामान्य अवधारणा (पीअर परसेप्शन) जैसे मानक शामिल हैं।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय इस रैंकिंग की घोषणा अप्रैल में ही करने वाला था लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के कारण इसे स्थगित कर दिया गया। एनआईआरएफ रैंकिंग हर साल जारी की जाती है, जिसमें देश के शीर्ष विश्वविद्यालयों, इंजीनियरिंग कॉलेजों, मेडिकल कॉलेजों, मैनेजमेंट और फार्मेसी संस्थानों की उनकी परफॉर्मेंस के आधार पर रैंकिंग की जाती है।

इससे पूर्व रैकिंग के लिए कोई सरकारी संस्था नहीं थी और प्राइवेट संस्थाएं रैकिंग जारी करती थीं। उस पर कई तरह के विवाद उठते थे। लेकिन अब विभिन्न मानकों के आधार पर सरकार ही सरकारी और प्राइवेट संस्थानों को रैंकिंग जारी करती है।

अगर हम देश के शीर्ष 10 विश्वविद्यालयों की बात करें तो भारतीय विज्ञान संस्थान-आईआईएससी, बेंगलुरू (84.18 अंक), जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय-जेएनयू (70.16 अंक) और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय-बीएचयू ने (63.15 अंक) ने शीर्ष तीन स्थानों पर कब्जा किया। वहीं देश का सबसे बड़ा विश्वविवद्यालय दिल्ली विश्वविद्यालय टॉप 10 की सूची से बाहर होकर 11वें स्थान पर रहा। पूरी सूची कुछ इस प्रकार है-


सोर्स- एनआईआरएफफ रैंकिंग, एमएचआरडी


सोर्स- लाइव हिंदुस्तान

हालांकि देश के शीर्ष कॉलेजों की सूची में दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों का दबदबा रहा। टॉप चार कॉलेजों में दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेज क्रमशः मिरांडा हाउस (77.23 अंक), लेडी श्रीराम कॉलेज (72.08 अंक), हिंदू कॉलेज (70.44 अंक) और सेंट स्टीफेन कॉलेज (69.67 अंक) रहें। टॉप 20 में दिल्ली विश्वविद्यालय के कुल 12 कॉलेज रहें। पूरी सूची इस प्रकार है-

सोर्स- एनआईआरएफफ रैंकिंग, एमएचआरडी


सोर्स- लाइव हिंदुस्तान

देश के शीर्ष 10 मैनेजमेंट कॉलेजों में शीर्ष 6 स्थानों पर आईआईएम ने कब्जा जमाया है, जबकि दो स्थानों पर आईआईटीज ने भी बाजी मारी है। गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से आईआईटीज और विभिन्न विश्वविद्यालयों में भी मैनेजमेंट के कोर्सेज (MBA, मैनेजमेंट पीजी डिप्लोमा आदि) भी चल रहे हैं और कई प्रतिष्ठित आईआईएम को पछाड़कर इनका टॉप 10 में जगह बनाना एक अच्छी बात है। पूरी सूची कुछ इस तरह है-

सोर्स- एनआईआरएफफ रैंकिंग, एमएचआरडी

वहीं इंजीनियरिंग कॉलेजों की बात करें तो आईआईटीज के दबदबे के बीच सिर्फ एक कॉलेज एनआईटी, तिरूचिरापल्ली देश के शीर्ष 10 इंजीनियरिंग संस्थानों में जगह बना पाया है। पूरी सूची कुछ इस तरह है-

सोर्स- एनआईआरएफफ रैंकिंग, एमएचआरडी

वहीं मेडिकल संस्थानों में एम्स, दिल्ली पहले, पीजीआई, चंडीगढ़ दूसरे और क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर तीसरे स्थान पर है। पूरी सूची कुछ इस तरह है-

सोर्स- एनआईआरएफफ रैंकिंग, एमएचआरडी

फॉर्मेसी, डेंटल, लॉ और आर्किटेक कॉलेजों की भी सूची निम्नवत है-











Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.