Top

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं शुरू, 56 लाख से अधिक परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं शुरू, 56 लाख से अधिक परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

लखनऊ। यूपी बोर्ड की परीक्षाएं शुरु हो गई हैं। 6 मार्च तक चलने वाली इस परीक्षा में प्रदेश के 56,07,118 परीक्षार्थी भाग लेंगे। प्रदेश के 7784 स्कूलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। प्रदेश सरकार ने नकल पर लगाम लगाने के लिए इस बार लाइव स्ट्रीमिंग की व्यवस्था की है। इस बार परीक्षा प्रक्रिया की रिकॉर्डिंग के अलावा उसके लाइव स्ट्रीमिंग की भी व्यवस्था की गई है, जिसका नियंत्रण जिला मुख्यालय स्थित कंट्रोल रुम से होगा।

इस बार हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 30,22,607 परीक्षार्थियों ने अपने आप को नामांकित किया है। इसमें 16,60,738 छात्र और 13,61,869 छात्राएं शामिल हैं। वहीं इंटरमीडिएट में कुल 25,84,511 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं जिसमें 14,63,390 छात्र और 11,21,121 छात्राएं शामिल होंगी। 7784 केंद्रों पर करीब 93 हजार परीक्षा कक्ष बनाए गए हैं, जिसकी ऑनलाइन निगरानी 1 लाख 91 हजार CCTV से हो रही है।

बोर्ड परीक्षा के लिए माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, इलाहाबाद ने टोल फ्री नम्बर जारी की है। टोल फ्री नम्बरों 18001805310, 18001805312 पर सुबह 8 से शाम 8 बजे तक संपर्क कर परीक्षार्थी अपनी शंकाओं को दूर कर सकते हैं। इसके अलावा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, इलाहाबाद ने @upboardexam2020 अपनी एक ट्वीटर आईडी जारी की है, जिस पर कोई भी परीक्षार्थी या आम आदमी बोर्ड परीक्षाओं से संबंधित अपनी समस्याओं और शंकाओं को ट्विटर पर साझा कर सकता है।

इस बार बोर्ड ने उत्तर लिखने के लिए रंगीन लाइनों वाली आंसर शीट्स के इस्तेमाल की बात कही है। नकल रोकने के लिए बोर्ड ने रंगीन आंसर शीट्स के इस्तेमाल का निर्णय लिया है। इसके अलावासभी कॉपियों पर सीरियल नंबर होगा। वहीं नकल के लिए बदनाम और संवेदनशील जिलों में सिली हुई आंसर शीट के प्रयोग का निर्णय लिया गया है।

सरकार ने नकल माफियाओं पर लगाम लगाने के लिए उन पर रासुका लगाने का फैसला किया है। इसके साथ ही नकल माफियाओं पर नाकाम लगाने के लिए उन पर गैंगेस्टर की धारा भी लगाई जाएगी। सूबे के उपमुख्यमंत्री और माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश चंद्र शर्मा ने विद्यार्थियों के लिए वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा कि वे तनावमुक्त और शुचितापूर्ण परीक्षा दें।



देश में ऐसा पहली बार हो रहा है जब किसी बोर्ड परीक्षा की ऑनलाइन मॉनीटरिंग राज्य स्तर पर की जाएगी। इससे पहले बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए वीडियो और वॉयस रिकॉर्डिंग की व्यवस्था की जाती थी। इस बार बोर्ड ने इस प्रक्रिया को तो जारी रखा है लेकिन परीक्षा केंद्रों की लाइव स्ट्रीमिंग की भी व्यवस्था की है।

इसके लिए प्रत्येक जिला मुख्यालय पर कंट्रोल रूम और मॉनीटरिंग केंद्रों की स्थापना की गई है, जो ऑनलाइन वेबकास्टिंग के जरिये जिले के प्रत्येक परीक्षा केंद्रों पर नजर रखेगा। इसका नियंत्रण राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम से भी किया जाएगा।



माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने इस बारे में बताया कि सभी परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरा, वॉयस रिकॉर्डर, राउटर और इंटरनेट कनेक्शन की व्यवस्था करने के आदेश दे दिए गए हैं। वहीं जिलों में बनाए जाने वाले कंट्रोल रूम में भी पर्याप्त कंप्यूटर्स की व्यवस्था की गई है

उपमुख्यमंत्री दिनेश चंद्र शर्मा ने लखनऊ स्थित राज्य स्तरीय मॉनीटरिंग कंट्रोल रुम का निरीक्षण किया। इसके अलावा उन्होंने लखनऊ स्थित राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज में औचक निरीक्षण किया। दिनेश शर्मा बोर्ड परीक्षाओं के दौरान औचक निरीक्षण के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने हमेशा इस बात को दोहराया है कि नकल कराने वाले शिक्षा माफियाओं को या तो अपना व्यापार बंद करना होगा या तो वे जेल जाएंगे।



Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.