Top

स्तन कैंसर जागरूकता माह: स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाला बड़ा कैंसर है, पुरुष भी नहीं हैं इससे अछूते 

महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों को भी स्तन कैंसर का खतरा रहता है। बता रहे हैं किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के इंडोक्राइन सर्ज़री विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. आनंद कुमार मिश्रा...

Deepanshu MishraDeepanshu Mishra   3 Oct 2018 10:31 AM GMT

लखनऊ। महिलाओं में सबसे ज्यादा होने वाला कैंसर स्तन कैंसर ही होता है। जब भी कभी हम महिलाओं की सेहत संबंधी समस्याओं पर बात करते है तो उसमें सबसे पहले बात स्तन कैंसर की ही होती है। महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों को भी स्तन कैंसर का खतरा रहता है।

भारत में पिछले वर्ष स्तन कैंसर होने कि औसतन उम्र 30 से 50 वर्ष तक पाई गयी। इसके अलावा 22-23 वर्ष महिलाओं में स्तन कैंसर पाया गया। स्तन कैंसर से समय रहते सही जानकारी से कैसे बचाव किया जा सकता है, इस बारे में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के इंडोक्राइन सर्ज़री विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. आनंद कुमार मिश्रा विस्तार से बता रहे हैं।


प्रो. आनंद कुमार मिश्रा ने बताया, "स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाला बड़ा कैंसर है। सबसे ज्यादा मृत्यु स्तन कैंसर से ही होती है पूरे विश्व में अक्टूबर माह स्तन कैंसर जागरूकता के लिए मनाया जाता है। जागरूकता इसलिए करना चाहते हैं क्योंकि स्तन कैंसर से बचाव के लिए कोई भी वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। स्तन कैंसर को लोग जाने, उसका इलाज क्या है ये सब जानकारी प्राप्त कर सकें।

प्रो. आनंद कुमार मिश्रा

वर्ष 2012 की एक सर्वेक्षण के रिपोर्ट के अनुसार पूरे विश्व में स्तन कैंसर के साढ़े दस लाख नये मरीज पाए गये, जिसमें स्तन कैंसर से 3.73 लाख की मृत्यु हुई। भारत में पिछले वर्ष स्तन कैंसर होने कि औसतन उम्र 30 से 50 वर्ष तक पाई गयी। इसके अलावा 22-23 वर्ष महिलाओं में स्तन कैंसर पाया गया।

ये भी पढ़े- सावधान ! कहीं आप बार-बार एक ही काम तो नहीं करते

प्रो. आनंद कुमार मिश्रा ने आगे बताया, "कैंसर एक ऐसी बीमारी है, जिसका पहली स्टेज में पता लग जाये तो उसका इलाज संभव है। ठीक उसी तरह से इसकी दवाइयां चलती है जैसे किसी अन्य बीमारी के लिए चलती हैं। पहले ही कैंसर को पता लगाने के लिए एक स्क्रीनिंग का प्रोग्राम होता है जिसमें महिलाओं में 40 वर्ष की उम्र के बाद प्रति वर्ष, प्रति दो वर्ष या प्रति तीन वर्ष पर एक्स-रे होता है, अगर उसमें गाँठ दिखती है तो उसकी जाँच करके कैंसर का पता लगा सकते हैं। ये स्क्रीनिंग जांच हमारे देश में संभव नही है क्योंकि इसमें बहुत ज्यादा पैसे की आवश्यकता होती है, बहुत ज्यादा सिस्टम की आवश्यकता और बहुत सारे डॉक्टर की आवश्यकता होती है।"

स्तन कैंसर से बचने के उपाय

  • 1-समय-समय पर महीने में एक बार अपने स्तन की जांच करें,
  • 2-रजोनिवृत्ति के बाद हार्मोन के इलाज से बचें,
  • 3-रजोनिवृत्ति के बाद मोटापे से बचें,
  • 4-व्यायाम करें और योग करें,
  • 5-जिन लोगों के घर में स्तन कैंसर हुआ है उनके घर में स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है इसलिए स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहें,
  • 6-जिनको कभी छाती कई एक्स-रे मिला है या बचपन में किसी और बीमारी से एक्स-रे मिला है उन लोगों के खतरा रहता है,
  • 7-बढ़ती उम्र में बच्चे होने से स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है,
  • 8-जिन्हें बच्चे नहीं होते उनको भी स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है,
  • 9-बच्चों को स्तनपान जरुर करवाएं और परिवार को जल्दी पूरा कर लें,
  • 10-हार्मोन थेरेपी से बचें

ये भी पढ़े- मानसिक रोगों को न समझें पागलपन

कैसे पहचाने स्तन कैंसर

  • 1-स्तन में गांठ आ जाती है
  • 2-गांठ के साथ त्वचा में कोई बदलाव आ जाता है
  • 3-त्वचा पर कोई लाल पन आ जाये या कोई घाव हो जाये
    4-स्किन अन्दर को धंस जाये
  • 5-निपल अचानक से धसना शुरू हो जाएं
  • 6-निपल से खून आने लगे,
  • 7-निपल के आस-पास छाले पड़ जाते हैं
  • 8-कांख में किसी प्रकार की गांठ आ जाये

पुरुषों में भी होता है स्तन कैंसर

प्रो. आनंद कुमार मिश्रा ने बताया, "वैसे तो स्तन कैंसर उम्र बढ़ने के साथ-साथ महिलाओं को होता है लेकिन पुरुषों में भी स्तन कैंसर हो सकता है। पुरुषों में एक प्रतिशत ही स्तन कैंसर होता है, जिसका कारण यह है कि पुरुषों में स्तन का विकास होता नहीं है। स्तन का मुख्य काम स्तन पान होता है जो कि पुरुषों में होता नहीं है। पुरुष और महिलाओं में स्तन के विकास के हार्मोन्स अलग-अलग होते हैं। पुरुषों में स्तन कैंसर बहुत ही एडवांस होता है ये बहुत तेजी से फैलता है। स्किन से तेजी से फैलकर छाती से चिपक जाता है, इसलिए पुरुषों को भी इसके लिए हमेशा सजग रहना चाहिए।"

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.