लखनऊ: केजीएमयू ट्रामा सेंटर में जल्द खुलेगा आई बैंक

लखनऊ: केजीएमयू ट्रामा सेंटर में जल्द खुलेगा आई बैंकसाभार: इंटरनेट

लखनऊ। ट्रामा सेंटर के पांचवें तल में 5.5 करोड़ की लागत से बना आई बैंक जल्द ही मरीज़ों के लिए खुलने वाला है। केजीएमयू प्रशासन ने आई बैंक के उद्घाटन की लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस बैंक को कम्यूनिटी आई बैंक का नाम दिया गया है। इस कम्यूनिटी आई बैंक के लिए साइंस लाइफ इंडिया, सीतापुर आई अस्पताल और केजीएमयू के बीच एमओयू साइन हुआ था और अब यह मरीज़ों की सेवा के लिए तैयार है। आई बैंक के खुलने से करीब 500 लोगों को कार्निया मिल सकेगी।

पांच दिसम्बर को आई बैंक मरीजों के लिए खोल दिया जाएगा। इस आई बैंक में बाहर से मशीनें लायी गयी हैं, जिसमें 15 दिन तक कार्निया को सुरक्षित रखा जा सकता है। यह आई बैंक यूपी का सबसे बड़ा आई बैंक है।
डॉ. अरुण कुमार, नेत्र विभाग, केजीएमयू

आई बैंक बनाने की अनुमानित लागत लगभग 5.50 करोड़ रुपए है। इस आई बैंक में कॉर्निया को 15 दिनों तक संरक्षित किया जा सकेगा। वर्तमान समय में नेत्र विभाग की ओर से हर साल 70 लोगों को कॉर्निया ट्रांसप्लांट किया जा रहा है। जिसे बढ़ाकर 900 का लक्ष्य बनाया गया है। इसके लिए केजीएमयू में अलग से आई बैंक बनाया गया है। यह आई बैंक शताब्दी फेज-2 या ट्रॉमा के पांचवें तल पर है। कार्निया ट्रांसप्लांट में आई सर्जन की कमी को पूरा करने के लिए टेक्निशन्स को ट्रेनिंग दी गयी है।

Share it
Top