औचक निरीक्षण में चार डॉक्टर और 12 स्वास्थ्यकर्मी मिले गायब

औचक निरीक्षण में चार डॉक्टर और 12 स्वास्थ्यकर्मी मिले गायबऔचक निरीक्षण में डॉक्टर और कर्मचारी मिले नदारद ।

आभा, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कन्नौज। गाँव के अस्पतालों में जाने से डॉक्टर और कर्मचारी कतराते हैं, यह खुलासा सीएमओ समेत अन्य अफसरों के निरीक्षण में आखिरकार सामने आ गया। डीएम ने विकास खंड के दो-दो अस्पताल रोज देखने और उसी दिन कैम्प कार्यालय में रिपोर्ट भेजने के आदेश दिए हैं।

सेहत से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बता दें कि डीएम जगदीश प्रसाद के निर्देश पर हाल मे सीएमओ डॉ. एके पचौरी ने कन्नौज सीएचसी का निरीक्षण किया। यहां डॉ. एसके सिंह और कक्ष सेवक सुशील कुमार नहीं मिले। वहीं, ठठिया पीएचसी में भी स्वास्थ्य पर्यवेक्षक, प्रयोग सहायक श्रवण कुमार और एसएमएलटी विजय सिंह नहीं थे। डिप्टी सीएमओ डॉ. एके जाटव के निरीक्षण में जलालाबाद पीएचसी में प्रयोगशाला सहायक बीएल कुशवाहा और गुगरापुर में स्टाफ नर्स सुचित्रा वर्मा मौजूद नहीं थीं।

डिप्टी सीएमओ डॉ. जेआर सिंह को भी गागेमऊ अस्पताल में डॉ. पवन सिंह व कक्ष सेवक शशिकांत वर्मा और तिर्वा सीएचसी पर दृष्टि मितिज्ञ ज्योति शुक्ल नहीं थीं। इसके अलावा मानीमऊ गाँव की पीएचसी पर डॉ. नरसिंह राजपूत तो पांच अप्रैल से अनुपस्थित चल रहे हैं। डीएम जगदीश ने बताया, “सभी डिप्टी सीएमओ, एसीएमओ और नोडल अधिकारीयों को हर रोज अपने-अपने विकास खंड के दो-दो अस्पतालों का औचक निरीक्षण करने के आदेश दिए हैं।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top