कमाई और सेहत एक साथ, ऐसे बनाएं योग में करियर

कमाई और सेहत एक साथ, ऐसे बनाएं योग में करियरयोग शारीरिक व्यायाम है जो तनाव और अन्य शारीरिक समस्याओं को दूर करने में हमारी मदद करता है।

लखनऊ। अगर आप योग के क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक हैं तो देश में कई ऐसे संस्थान हैं जो योग में अलग-अलग स्तर पर कोर्स कराते हैं। ये कोर्स सर्टिफिकेट से लेकर पीएचडी तक हैं। इन्हें करने के बाद आप योग को बतौर करियर अपना सकते है।

भारत में दसवीं या बारहवीं कक्षा के बाद भी योग से जुड़े कई सर्टिफिकेट कोर्स हैं। इसके अलावा योग में डिप्लोमा, बीएड और स्नातकोत्तर भी उपलब्ध है। इन पाठ्यक्रमों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता स्नातक है। इसके बारे में पूरी जानकारी दे रही हैं, संध्या योग क्लासेस की संचालिका डॉ. अनीता श्रीवास्तव-

योग क्या है

योग शारीरिक व्यायाम है जो तनाव और अन्य शारीरिक समस्याओं को दूर करने में हमारी मदद करता है।

योग्यता

पीजी डिप्लोमा कोर्स करने के लिए आमतौर पर योग्यता किसी भी फील्ड में कम-से-कम 50 फीसदी अंकों के साथ स्नातक हो। योग में डिग्री कोर्स भी उपलब्ध है। आप बीएससी इन योगा साइंस कर सकते हैं पर इसके लिए 12वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायॉलजी का होना जरूरी है। इसके अलावा जो लोग सिर्फ योग सीखना चाहते हैं, उनके लिए 2-3 महीने के सर्टिफिकेट कोर्स भी हैं।

योग प्रशिक्षक के अच्छे गुण

एक फिटनेस ट्रेनर को मूलतः फिटनेस, न्यूट्रिशन, वेट मैनेजमेंट, स्ट्रैस रिडियूशन, हेल्थ रिस्क मैनेजमेंट आदि जैसे विषयों पर विशेष ध्यान देना होता है। योग प्रशिक्षक या इंस्ट्रक्टर बनने के लिए आवश्यक गुण और इसकी विधियों का ज्ञान होना जरूरी है। योग इंस्ट्रक्टर बनने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ता है। इसके लिए आपको एक अच्छा वक्ता होना बहुत जरुरी होता है।

क्या हैं संभावनाएं

योग शिक्षक बनने से पहले जरूरी है कि आपको योग की पूरी समझ और जानकारी हो क्योंकि योग में आसनों को सही तरीके से करना जरूरी है। अगर आप एक भी योगासन गलत तरीके से करेंगे या कराएंगे तो वह किसी नई परेशानी को जन्म दे सकता है।

योग में करियर बनाने से अगर आप इसलिए कतरा रहे हैं कि इसमें स्कोप कम है, तो यह गए जमाने की बात हो गई। कई ऐसे योग शिक्षण संस्थान हैं, जहां योग शिक्षक के लिए भरपूर स्थान हैं। आप किसी स्कूल या कॉलेज में भी योग शिक्षक का पद संभाल सकते हैं। इतना ही नहीं योग शिक्षक अपना खुद का काम भी शुरू कर सकते हैं।

बन सकते हैं योग शिक्षक

योग को लेकर बढ़ रही जागरुकता के बीच कई कंपनियां कर्मचारियों के लिए योग क्लास लगाती हैं। इन क्लास के लिए किसी योग शिक्षक की जरूरती होती है, जो या तो फ्रीलांस के तौर पर या बतौर कर्मचारी काम करते हैं। योग की बढ़ती मांग से विदेशों में भी काम के काफी अवसर हैं।

योग शिक्षक बनने का एक फायदा यह भी है कि योग की क्लासेज आप ज्यादातर सुबह या शाम को ही लेते हैं। ऐसे में आपके पास बीच का पूरा दिन होता है, जिसमें आप कुछ नया सीख सकते हैं या कोई दूसरा काम या बिजनसे या फिर अपना खुद का योग स्कूल भी शुरू कर सकते हैं।

वेतन

एक अच्छे योगा इंस्ट्रक्टर का वेतन स्टूडियो के आकार और स्थान पर निर्भर करता है। योग के क्षेत्र में करियर बनाने के शुरुआत में आपको लगभग स्कूलों में टीजीटी स्केल 35 से 40 हजार वेतन मिल सकता है। कॉलेजों में योगाचार्य के वेतनमान की शुरुआत 45 से 50 हजार रुपये है। इसके बाद जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ेगा वैसे-वैसे आपका वेतन बढ़ता जाएगा।

संस्थान जहां से किया जा सकता है कोर्स

देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार, उत्तराखंड

(योग मे बी.एससी से पी.एचडी तक के कोर्स उपलब्ध)

गुरूकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार, उत्तराखंड

(योग में डिप्लोमा, सर्टिफिकेट कोर्स उपलब्ध)

भारतीय विद्या भवन, दिल्ली

(6 महीने से लेकर 1 साल तक का कोर्स उपलब्ध)

अय्यंगर योग सेंटर, पुणे

(योग प्रशिक्षण उपलब्ध)

मोरारजी देसाई नेशनल इस्टीट्यूट ऑफ योग, दिल्ली

(स्नातक के बाद 3 साल का बी. एससी योगा साइंस, 1 साल का डिप्लोमा, पार्ट टाइम योग कोर्स उपलब्ध)

बिहार स्कूल ऑफ योगा, मुंगेर

(4 महीने और 1 साल के कोर्स उपलब्ध)

Share it
Share it
Share it
Top