कहीं थकान आपकी तरक्की न रोक दे, करें व्यायाम

कहीं थकान आपकी तरक्की न रोक दे, करें व्यायामथकान का होना आपके लिए एक बड़ी समस्या का कारण भी बन सकता है और ऑफिस में होने वाली आपकी तरक्की पर भी असर डाल सकता है।

लखनऊ। दिनभर ऑफिस में बैठकर काम करना, या बाहर भागदौड़ करना दोनों में ही थकान का होना स्वाभविक है। लेकिन थोड़ा सा काम करते ही थकान का होना आपके लिए एक बड़ी समस्या का कारण भी बन सकता है और ऑफिस में होने वाली आपकी तरक्की पर भी असर डाल सकता है। समय रहते इसे पहचानें और इससे दूर रहने के लिए उपाय करें।

थकान दो तरह की हो सकती है शारीरिक और मानसिक। हालांकि शारीरिक थकान से आराम करके जल्दी ही निजात पाई जा सकती है लेकिन मानसिक थकान को दूर करने में कुछ समय लग सकता है। थकान को दूर करने के बारे में बता रहे हैं, लखनऊ के डॉ. अमित अस्थाना-

थकान के कारण

  • ज्यादा शारीरिक काम करने से।
  • ज्यादा व्यायाम करने से।
  • ज्यादा तनावग्रस्त रहने से।
  • नींद पूरी न होने से।
  • कमजोरी की वजह से।
  • खून की कमी की वजह से।
  • शरीर में विटामिन की कमी से।

लक्षण

थकान की वजह से शरीर में स्फूर्ति नहीं रहती है। हो सकता है कि इसके चलते आपकी तरक्की पर भी असर पड़ने लगे।

  • किसी काम में मन न लगना।
  • नकरात्मक सोच का बढ़ना।
  • हर समय नींद आना।
  • कमजोरी महसूस होना।

बचने के उपाय

  • अपनी दो अंगुलियों के पोरों से चेहरे की हल्की मालिश करें। इससे रक्त संचार बढ़ेगा, जिससे आप महसूस करेंगे कि आपकी थकान दूर हो गई है।
  • कई बार सुगंधित तेल के प्रयोग से भी शरीर की थकावट को भगाया जा सकता है।
  • रोज योग और व्यायाम जरूर करें लेकिन बहुत ज्यादा व्यायाम न करें।
  • कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद जरूर लें।
  • तनावमुक्त रहने की कोशिश करें।
  • इसके साथ ही अपने भोजन में संतुलित आहार जैसे हरे पत्ते वाली सब्जियां, मौसमी सब्जी, दालें अवश्य लें। खाने में विटामिन की मात्रा बढ़ाएं। संगीत सुनने से दिमाग को काफी आराम मिलता है। इससे मानसिक थकावट को आसानी से दूर किया जा सकता है।
  • अगर इसके बाद भी थकान या सुस्ती से आराम न मिले तो डॉक्टर से परामर्श ले सकते हैं और कुछ टॉनिक्स की मदद से भी इस बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है।

आयुर्वेद में उपाय

थकान और कमजोरी मिटाने के बारे में हमारे हर्बल एक्सपर्ट दीपक आचार्य बता रहे हैं कुछ उपाय-

शरीर की थकान मिटाए तुलसी

पातालकोट के आदिवासी हर्बल जानकार तुलसी को थकान मिटाने वाली एक औषधि मानते है, इनके अनुसार अत्यधिक थकान होने पर तुलसी के पत्तियों और मंजरी के सेवन से थकान दूर हो जाती है।

शहद और दूध है गुणकारी

शहद को दूध के साथ मिलाकर लिया जाए तो हृदय, दिमाग और पेट के लिए फ़ायदेमंद होता है। नींबू पानी के साथ शहद मिलाकर पीने से ये शरीर को ऊर्जा और ठंडक प्रदान करता है। आदिवासियों का मानना है कि यदि शहद का सेवन प्रतिदिन किया जाए तो ये शरीर को चुस्त दुरुस्त रखने में काफ़ी मदद करता है साथ ही शारीरिक ताकत को बनाए रखकर थकान दूर करता है।

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए आलू

हम जानते हैं कि आलू में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। कच्चे आलू को कुचलकर एक चम्मच रस तैयार किया जाए और इसे दिन में कम से कम चार बार लिया जाए। आदिवासी हर्बल जानकारों के अनुसार आलू का रस रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और कई प्रकार के रोगों से लड़ने की क्षमता शरीर को मिल जाती है। आलू की मदद से कमजोरी, थकान और ऊर्जा की कमी को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

शतावरी की जड़ में महत्वपूर्ण रसायन

शतावरी की जड़ों में सेपोनिन्स और डायोसजेनिन जैसे महत्वपूर्ण रसायन पाए जाते है। इसके पत्तों का रस (लगभग 2 चम्मच) दूध में मिलाकर दिन में दो बार लिया जाए तो यह शक्तिवर्धक होता है। शतावरी की जड़ों का चूर्ण (4 ग्राम) शक्कर के साथ घोलकर लिया जाए तो शरीर से थकान दूर भगाने में मदद मिलती है।

First Published: 2017-02-11 14:19:54.0

Share it
Share it
Share it
Top